छोटी उम्र में बड़े काम, बागेश्वर की 3 लड़कियों ने जीते ताइक्वांडो प्रतियोगिता में स्वर्ण

bikram

प्रदेश की होनहार बेटियां आज किसी भी क्षेत्र में पीछे नहीं हैं। आप चाहे जितनी भी तारीफ कर लें, प्रदेश की इन होनहार बेटियों की अभूतपूर्व सफलताएं कभी कम नहीं होंगी। उन्होंने अपनी काबिलियत के दम पर सफलता की ऊंची ऊंचाइयां हासिल की हैं।

बागेश्वर की 3 लड़कियों ने जीता स्कूल ताइक्वांडो प्रतियोगिता में स्वर्ण

इसी कड़ी में आज हम आपको प्रदेश की एक और ऐसी होनहार बेटियों से मिलवाने जा रहे हैं, जिन्होंने नेशनल स्कूल ताइक्वांडो प्रतियोगिता में शानदार प्रदर्शन करते हुए गोल्ड मेडल जीता है। हम बात कर रहे हैं भूमिका टाकुली की, जो मूल रूप से राज्य के बागेश्वर जिले की रहने वाली हैं, उन्होंने अपनी अभूतपूर्व उपलब्धि से राष्ट्रीय स्तर पर बागेश्वर जिले के साथ-साथ पूरे उत्तराखंड का नाम रोशन किया है।

भूमिका की इस अभूतपूर्व उपलब्धि से जहां उनके परिवार में खुशी का माहौल है, वहीं उन्हें बधाई देने वालों का भी तांता लगा हुआ है। प्राप्त जानकारी के अनुसार भूमिका ताकुली मूल रूप से राज्य के बागेश्वर जिले के कपकोट तहसील क्षेत्र के लाहुर गांव की रहने वाली हैं, उन्होंने मध्य प्रदेश के बैतूल में चल रही राष्ट्रीय विद्यालयी ताइक्वांडो प्रतियोगिता में भाग लिया था।

बताया गया है कि इस प्रतियोगिता के अंडर-24 आयु वर्ग में उन्होंने झारखंड, तेलंगाना, हरियाणा, महाराष्ट्र के ताइक्वांडो खिलाड़ियों को हराकर न केवल प्रथम स्थान प्राप्त किया, बल्कि स्वर्ण पदक भी जीता। दूसरी तरफ एक और अच्छी खबर है।

इसमें भी बागेस्वर जिले से ताल्लुक रखने वाली उत्तराखंड की एक और बेटी लता कोरंगा और डॉली फर्स्वाण, जो मूल रूप से बागेश्वर जिले की रहने वाली हैं, ने मध्य प्रदेश के बैतूल में चल रही राष्ट्रीय विद्यालयी ताइक्वांडो प्रतियोगिता में शानदार प्रदर्शन करते हुए न केवल अपने प्रतिद्वंद्वियों को हराया, बल्कि दो स्वर्ण पदक भी जीते।

उत्तराखंड की झोली में दिया। राज्य के बागेश्वर जिले के कपकोट तहसील क्षेत्र के लाहुर गांव की रहने वाली भूमिका टाकुली ने सोमवार को अंडर 24 ग्रुप में गोल्ड मेडल जीता। इसके साथ ही मंगलवार को इसी जिले के निवासी प्रियांशु भी कांस्य पदक जीतने में सफल रहे। इन चारों होनहारों की इस अभूतपूर्व उपलब्धि से जहां उनके परिवारों में खुशी का माहौल है, वहीं उनके घरों पर बधाई देने वालों का भी तांता लगा हुआ है।

Leave a comment