उत्तराखंड से जुड़ी है 12वी फेल की कहानी, अल्मोड़ा की रहने वाली है असल जिंदगी की IRS श्रद्धा

bikram

इन दिनों हर तरफ फिल्म 12वीं फेल की चर्चा हो रही है। यह फिल्म एक UPSC अभ्यर्थी के संघर्ष के इर्द-गिर्द खूबसूरती से बनाई गई है, यह फिल्म आपको भावुक कर देगी। इसमें मनोज शर्मा नाम के एक युवक की कहानी है, जो एक IPS अधिकारी है। UPSC की तैयारी के लिए उन्हें कितना संघर्ष करना पड़ता है।

कौन है IPS मनोज शर्मा और IRS श्रद्धा जोशी

फिल्म की कहानी भले ही इमोशनल हो लेकिन यह उत्तराखंड के एक अभ्यर्थी की असल जिंदगी पर आधारित है। फिल्म 12वीं फेल में IPS मनोज शर्मा की पत्नी और IRS श्रद्धा जोशी के संघर्ष को भी दिखाया गया है। IRS श्रद्धा जोशी मूल रूप से उत्तराखंड के अल्मोडा जिले की रहने वाली हैं।

दोनों की मुलाकात दिल्ली के मुखर्जी नगर में हुई और उनकी दोस्ती प्यार में बदल गई। सफलता हासिल करने के बाद दोनों ने शादी कर ली। महाराष्ट्र कैडर के यूपीएससी 2005 बैच के भारतीय पुलिस सेवा अधिकारी मनोज कुमार मूल रूप से मध्य प्रदेश के मुरैना जिले की जोरा तहसील के बिलगांव गांव के रहने वाले हैं, जबकि उनकी पत्नी श्रद्धा जोशी UPSC 2007 बैच की भारतीय राजस्व सेवा अधिकारी हैं।

मूल रूप से उत्तराखंड के अल्मोडा के रहने वाले हैं।फिल्म 12 फेल के हिट होने के बाद लोग आईपीएस मनोज शर्मा और आईएफएस ऑफिसर श्रद्धा जोशी के बारे में जानने के लिए गूगल पर सर्च कर रहे हैं। IRS श्रद्धा जोशी ने बताया कि वह UPSC की तैयारी के लिए अल्मोड़ा से दिल्ली आती हैं। यहां उन्होंने डॉ. विकास दिव्यकीर्ति की दृष्टि IAS कोचिंग ज्वाइन की।

‘यूपीएससी प्री का रिजल्ट उसी दिन आ गया, जिस दिन मैं पहली बार कोचिंग के लिए गया था।’ IRS श्रद्धा जोशी आगे कहती हैं कि ‘मैं पहली बार मनोज कुमार शर्मा से तब मिली थी जब उन्होंने बिना कोचिंग के यूपीएससी प्री पास किया था। इसके बावजूद मनोज शर्मा बड़ी सादगी से मिले और बातचीत की. वह एक चमत्कारी अनुभव था।’

मनोज कुमार शर्मा कहते हैं कि ‘जब श्रद्धा मुझसे यूपीएससी में हिंदी साहित्य पर टिप्स लेने के लिए दृष्टि आईएएस कोचिंग में आईं तो उन्होंने पूछा, क्या आप मनोज शर्मा हैं? मैंने हां में जवाब दिया और आपसे पूछा? जवाब था- मैं श्रद्धा हूं, अल्मोड़ा से। मुझे ये नाम बहुत पसंद आया.’

मनोज शर्मा 12वीं की परीक्षा में एक बार फेल भी हो गए थे. इस बात का जिक्र फिल्म में भी किया गया है. मनोज कुमार शर्मा 12वीं में फेल हो गए. वहीं, 12वीं क्लास में श्रद्धा जोशी टॉपर रहीं। वह कहती हैं कि पहले अल्मोडा उत्तराखंड की बजाय उत्तर प्रदेश का हिस्सा हुआ करता था. उस समय श्रद्धा जोशी ने यूपी बोर्ड की 12वीं कक्षा की परीक्षा में राज्य स्तर पर 13वीं रैंक हासिल की थी।

दिल्ली में तैयारी के दौरान श्रद्धा जोशी का चयन उत्तराखंड में डिप्टी कलेक्टर के पद पर हुआ और चौथे प्रयास में मनोज शर्मा आईपीएस बन गये। फिर दोनों ने शादी कर ली। शादी के बाद श्रद्धा जोशी ने दोबारा यूपीएससी परीक्षा दी और इस बार आईआरएस बन गईं। मनोज कुमार शर्मा महाराष्ट्र कैडर के आईपीएस हैं।

Leave a comment