पढ़ाई में आगे निकले नैनीताल के बच्चे, ICAR में पहले स्थान लाकर नैनीताल की शुभांगी रावत ने किया राज्य का नाम रौशन

bikram

उत्तराखंड के बच्चे शिक्षा के साथ-साथ खेल के क्षेत्र में भी कमाल कर रहे हैं। बेटियों का ग्राफ बेटों से बेहतर रहा है। वे अब मॉनिटरिंग कर रहे हैं। युवाओं की कहानियां उत्तराखंड के युवाओं को प्रेरित करने में अहम योगदान निभा रही हैं।

स्कूल से ही मेधावी छात्रा है शुभांगी रावत

रामनगर निवासी शुभांगी रावत ने इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (जूनियर रिसर्च फेलोशिप) में अखिल भारतीय स्तर पर 71% अंक प्राप्त कर राष्ट्रीय स्तर पर प्रथम स्थान प्राप्त किया। शुभांगी रावत की सफलता ने पूरे राज्य का नाम रोशन हुआ है, उनके माता-पिता को भी उनकी इस शानदार उपलब्धि पर गर्व है।

नैनीताल जिले में उनके परिचित भी परिवार को बधाई दे रहे हैं। शुभांगी रावत बचपन से ही मेधावी छात्रा थीं, इससे पहले उन्होंने 10वीं और 12वीं की परीक्षा में प्रथम स्थान प्राप्त कर विद्यालय का नाम रोशन किया था। उनके पिता देवेन्द्र सिंह रावत और मां आरती रावत इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च में अपनी बेटी की सफलता से बेहद खुश हैं।

आपको बता दें कि शुभांगी को स्कूल में कई पुरस्कार मिले और अब उनकी इसी उपलब्धि से मदर्स ग्लोरी पब्लिक स्कूल से लेकर उनके इलाके तक सभी खुश हैं। मीना पथरी सिद्धांत ने शुभांगी को इस उपलब्धि के लिए बधाई दी और आशीर्वाद देते हुए उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की। उन्होंने कहा कि शुभांगी की यह उपलब्धि पूरे राज्य के लिए गौरव की बात है।

Leave a comment