23 दिसम्बर से बदल सकता है उत्तराखंड का मौसम, क्रिसमस और नए साल पर इन इलाक़ों में हो सकती है बर्फबारी

bikram

उत्तराखंड में मौसम में लगातार बदलाव अब आम बात हो गई है।एक ओर जहां मैदानी इलाकों में बारिश हो रही है और कड़ाके की ठंडी शुष्क हवाओं का सामना करना पड़ रहा है वहीं दूसरी ओर पहाड़ों में ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी जारी है, मैदानी इलाकों में मौसम शुष्क बना हुआ है।

मैदानी इलाकों में जागी बारीश की संभावना

मौसम विभाग ने एक जानकारी दी है। पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता के कारण 23 दिसंबर से मौसम का मिजाज बदल सकता है। अंत में चोटियों पर बर्फबारी और निचले इलाकों में बूंदाबांदी की संभावना रहेगी। ऐसे में 5 जिलों के लोगों को सावधान रहने की जरूरत है, इसके लिए अलर्ट जारी किया गया है।

रुद्रप्रयाग, चमोली, उत्तरकाशी, पिथौरागढ़, बागेश्वर जिलों में बारिश और बर्फबारी से मौसम बदल सकता है। आजकल उत्तराखंड के निचले इलाकों में शुष्क मौसम के बीच तेज़ धूप खिली हुई है। जिसके कारण अधिकतम तापमान तो सामान्य से अधिक बना हुआ है, लेकिन सुबह-शाम ठंड का प्रकोप बढ़ रहा है। पहाड़ों से लेकर मैदानी इलाकों में भी सुबह-शाम कड़ाके की ठंड महसूस की जा रही है।

मौदानी क्षेत्र में खासकर हरिद्वार और उधम सिंह नगर में कोहरा छाने की संभावना है। पहाड़ी इलाकों में भारी पाला पड़ने की चेतावनी जारी की गई है, इससे क्षेत्र में दुर्घटना का खतरा काफी बढ़ गया है। बर्फबारी के कारण तापमान में हल्की गिरावट हो सकती है। अब मौसम विभाग का कहना है कि पश्चिमी विक्षोभ के कारण 23 दिसंबर से कुछ जिलों में बर्फबारी हो सकती है।

मौसम की गंभीरता को देखते हुए सलाह दी जाती है कि जानवरों को खुले स्थानों पर न बांधें। इन दिनों मौसम में बदलाव के साथ ही दिन और रात के तापमान में भी अंतर दर्ज किया जा रहा है। दिन में धूप खिल रही है, जबकि सुबह-शाम ठंड का असर जारी है। डॉक्टरों ने विशेष रूप से बच्चों और बुजुर्गों की जांच कराने की सलाह दी है। बदलते मौसम में आपको अपनी सेहत को लेकर भी सावधान रहना चाहिए।

Leave a comment