उत्तराखंड में बचपन के सपने के लिए तोड़ डाली सारी सीमाएं, टिहरी का युवक पहले बना सर्वश्रेष्ठ NCC कैडेट फिर बना एयर फोर्स में अधिकारी

bikram

उत्तराखंड में वीरता की कोई कमी नहीं है। यह राज्य हमेशा देश को होनहार सैनिक देता आया है और देता रहेगा, चाहे वह थल सेना हो, जल सेना हो, वायु सेना हो। अब युवा भी प्रदेश की गौरवशाली सैन्य परंपरा को आगे बढ़ा रहे हैं।हाल ही में इनमें से एक नाम है टिहरी के विनय डंगवाल का भी।

पिता भी कर रहे है सेना में नौकरी

उन्होंने सर्वश्रेष्ठ NCC कैडेट बनने के बाद वायु सेना में अधिकारी बनकर राज्य का गौरव बढ़ाया है। विनय का बचपन से ही भारतीय सेना में शामिल होने का सपना था। उनके पिता संजय डंगवाल भी भारतीय सेना का हिस्सा रहे हैं। अपने पिता को सेना की वर्दी में देखकर विनय के मन में सेना में शामिल होने की चाहत जगी और उन्होंने तैयारी शुरू कर दी।

शिक्षा की बात करें तो विनय ने हाईस्कूल पास किया। 2016 में देहरादून और 2018 में केंद्रीय विद्यालय से इंटरमीडिएट किया। इसके बाद उन्होंने देहरादून के एक जाने-माने डिग्री कॉलेज से बीएससी और एमसीए की पढ़ाई पूरी की। विनय डंगवाल को वर्ष 2019 में सर्वश्रेष्ठ एनसीसी कैडेट भी चुना गया था। 2015 में उन्हें स्काउट गाइड के लिए राष्ट्रपति पुरस्कार मिला।

उनकी इस उपलब्धि के बाद उनका पूरा परिवार विनय की सफलता से खुश है। पासिंग आउट परेड के दौरान पूरा परिवार उनके साथ था और काफी खुश नजर आ रहा था। बेटे के अफसर बनने का गर्व उनके चेहरे पर साफ झलक रहा था।

Leave a comment