उत्तराखंड के गौरव के बचपन से था जो सपना, जवानी में सेना में लेफ्टिनेंट बनकर किया पूरा

bikram

उत्तराखंड गौरवशाली सैन्य परंपरा वाला प्रदेश है और सेना में जाने के इच्छुक होनहार युवा इस परंपरा को बखूबी आगे बढ़ा रहे हैं।अब उन वीर जवानों में अल्मोडा के गौरव नैलवाल का नाम भी शामिल हो गया है जो अपनी मातृभूमि की रक्षा के लिए खुद को न्यौछावर कर रहे हैं, गौरव ने सेना में लेफ्टिनेंट बनकर उत्तराखंड का नाम रोशन किया है।

हाल ही में देहरादून स्थित आईएमए में पासिंग आउट परेड आयोजित की गई, जिसमें गौरव ने अंतिम पग पार करते ही भारतीय सेना का अभिन्न अंग बन गए। गौरव का परिवार सल्ट क्षेत्र के पत्थरखोला-चानन गांव में रहता है। उनकी इस उपलब्धि पर क्षेत्रवासियों ने खुशी जताई है।

गौरव का परिवार सल्ट क्षेत्र के पत्थरखोला-चानन गांव में रहता है. उनकी इस उपलब्धि पर क्षेत्रवासियों ने खुशी जताई है। आइए आपको गौरव के बारे में कुछ और बातें बताते हैं। गौरव नेलवाल ने माध्यमिक स्तर तक की शिक्षा केन्द्रीय विद्यालय से प्राप्त की।

इसके बाद गौरव ने दिल्ली विश्वविद्यालय से उच्च शिक्षा प्राप्त की। साल 2022 में उन्होंने सीडीएस परीक्षा पास की और अपने सपने की ओर आगे बढ़े। सेना में अफसर बनने के सफर में। गौरव के पिता दामोदर दत्त वर्तमान में आईटीबीपी में कार्यरत हैं और मां गीता देवी गृहिणी हैं। दोनों को अपने बेटे की सफलता पर गर्व है।

गौरव बताते हैं कि वह बचपन से ही सेना में भर्ती होने का सपना देखते थे, ताकि देश की सेवा कर सकें। देहरादून में आयोजित पासिंग आउट परेड के बाद उनकी यह इच्छा पूरी हो गई। यदि आप अपने लक्ष्य को पाने के लिए ईमानदारी से मेहनत करते हैं तो आपको सफलता जरूर मिलती है।

Leave a comment