उत्तराखंड के हिमांशु ने खुशियों से भर दी माता पिता की झोली, पहले देश भर में किया CDS टॉप अब बना सेना में लेफ्टिनेंट

bikram

कल भारतीय सेना के लिए एक महान दिन था, भारतीय सैन्य अकादमी, उत्तराखंड में पासिंग आउट परेड में, देश और विदेश के 343 युवा अधिकारी देश की सेवा करने के लिए भारतीय सैन्य अकादमी (आईएमए) में शामिल हुए हैं। परेड के बाद पीपिंग समारोह आयोजित किया गया। जिसमें देश से 343 और मित्र देशों से 29 युवा कैडेट यानी देश-विदेश से 372 कैडेट अपनी सेनाओं में अधिकारी के रूप में शामिल होंगे।

पिछले साल CDS में पाई थी CDS mei पहला स्थान

हम आज बात कर रहे हैं हिमांशु पांडे की, जिनका नाम इस लिस्ट में है, उन्होंने अपने पिता का सपना पूरा किया। लामाचौड़ निवासी हिमांशु पांडे भी ट्रेनिंग पास करने वालों में से एक हैं। पासिंग आउट परेड के बाद आखिरकार हिमांशु भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट बन गए हैं। सीडीएस परीक्षा में टॉप करने वाले हिमांशु ने IMA देहरादून में एक साल की ट्रेनिंग पूरी की। लामाचौड़ के हिमांशु पांडे बचपन से ही भारतीय सेना का हिस्सा बनना चाहते थे।

सेना में भर्ती होने के लिए हिमांशु ने कई बार कोशिश की, लेकिन जब उनका चयन एनडीए में नहीं हुआ तो उन्होंने सीडीएस के माध्यम से प्रवेश की योजना बनाई और अब हिमांशु सफल हो गए हैं। हिमांशु के पिता कमल पांडे एक निजी कंपनी में काम करते हैं जबकि मां दुर्गा देवी गृहिणी हैं। हिमांशु की इस उपलब्धि पर पूरे इलाके में खुशी का माहौल है।

बचपन से ही हिमांशु पांडे एक मेधावी छात्र थे। उन्होंने एबीएम स्कूल, हल्द्वानी से पढ़ाई की। उन्होंने 10+2 में 95 फीसदी अंक हासिल किए थे। इसके बाद वह बीटेक के जरिए ग्रेजुएशन करने चले गए। उन्होंने विपिन चंद्र त्रिपाठी इंजीनियरिंग कॉलेज, द्वाराहाट, अल्मोड़ा में प्रवेश लिया, हालांकि बी.टेक की पढ़ाई के दौरान उन्होंने सेना में शामिल होने की तैयारी जारी रखी।

Leave a comment