12 दिसंबर के लिए उत्तराखंड के ऊंचे इलाको में जारी हुआ अलर्ट, मैदानों में धुंध कर सकती है परेशान

bikram

इन दिनों उत्तराखंड के अधिकांश क्षेत्र शुष्क मौसम से जूझ रहे हैं, दिन और रात बेहद सर्द हैं, मैदानी इलाकों के अधिकांश इलाकों में कोहरा छाया हुआ है और लोग गर्म रहने के लिए आग का सहारा ले रहे हैं। कई दिनों की बारिश और बर्फबारी के बाद निकली धूप ने लोगों को राहत दी है।

पहाड़ी इलाकों में कड़ाके की ठंड बढ़ा सकती है परेशानी

हालांकि, सुबह और शाम ठंड है। खासकर पहाड़ी इलाकों में लोगों को कड़ाके की ठंड का सामना करना पड़ रहा है। पिछले कुछ दिनों में यहां काफी बारिश और बर्फबारी हुई, जिसका असर अभी भी महसूस किया जा रहा है। पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी के कारण निचले इलाकों में ठंड बढ़ गई है। लोग ठंड से बचने के लिए गर्म कपड़ों और अलाव का सहारा ले रहे हैं, लेकिन राहत नहीं मिल रही है।

मौसम विभाग ने 10 और 11 दिसंबर के मौसम की भविष्यवाणी की है। बताया जा रहा है कि 10 और 11 दिसंबर को मैदानी इलाकों में कोहरा छाने से दिक्कतें बढ़ेंगी। हरिद्वार और उधम सिंह नगर जैसे जिलों में घना कोहरा छाया रहेगा। पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी के कारण निचले इलाकों में कड़ाके की ठंड पड़ रही है. शाम होने से पहले ही बाजारों में सन्नाटा पसर जाता है। कल मौसम आमतौर पर साफ रहेगा। अगर आप इन दिनों मैदानी इलाकों की यात्रा पर जा रहे हैं तो वाहन की गति पर नियंत्रण रखें। मैदानी इलाकों में दृश्यता कम है, इसलिए वाहन चालकों को विशेष सावधानी बरतने की सलाह दी गई है.

ड्राइवरों को सुरक्षित गाड़ी चलाने की सलाह दी जा रही है, कम विजिबिलिटी के कारण उन्हें दिक्कत हो सकती है। लोगों को सावधानी से गाड़ी चलाने की सलाह दी गई है। 12 दिसंबर से प्रदेश के मौसम में बदलाव देखने को मिल सकता है।

इस दौरान उत्तराखंड के पांच जिलों में बारिश और बर्फबारी होगी। इन जिलों में उत्तरकाशी, चमोली, पिथौरागढ़, रुद्रप्रयाग और बागेश्वर जैसे जिले शामिल हैं। 12 दिसंबर को यहां बारिश हो सकती है। ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी से दिक्कतें बढ़ेंगी। सलाह दी जाती है कि अपने स्वास्थ्य और विशेषकर बच्चों और बूढ़ों का विशेष ध्यान रखें क्योंकि बदलता मौसम बहुत खतरनाक हो सकता है।

Leave a comment