खटीमा की गीतिका चुफाल ने किया पिता को गौरवांवित, उत्तराखंड की बेटी बनी वायु सेना में फ्लाइंग ऑफिसर

bikram

उत्तराखंड की होनहार बेटियां आज हर क्षेत्र में अपनी प्रतिभा दिखा रही हैं, बेटों से किसी भी क्षेत्र में पीछे नहीं हैं। खासकर सैन्य क्षेत्रों में उत्तराखंड की बेटियों की बढ़ती संख्या यह साबित करती है कि आज बेटियां भी पीछे नहीं हैं और हर क्षेत्र में बेटों से कंधे से कंधा मिलाकर आगे बढ़ रही हैं। हम कर रहे हैं खटीमा तहसील क्षेत्र की रहने वाली युवा गीतिका चुफाल की।

पिता भी हो चुके है सेना से सेवानिवृत्त

राज्य की कई महिलाएं हैं जिन्होंने अपनी अभूतपूर्व उपलब्धियों से अपने माता-पिता के साथ-साथ पूरे राज्य को गौरवान्वित किया है। हम आपको आए दिन इन होनहार बेटियों से रूबरू कराते रहते हैं। हम आज बात कर रहे हैं खटीमा तहसील क्षेत्र की रहने वाली युवा गीतिका चुफाल की, उनका चयन भारतीय वायु सेना में फ्लाइंग ऑफिसर के पद पर हुआ है। यह उनके लिए एक बहुत बड़ी उपलब्धि है क्योंकि यह हमारे लिए एक प्रतिष्ठित पद है और वह उस क्षेत्र से आती हैं जहां कई लड़कियां उच्च शिक्षा प्राप्त करने से वंचित हैं।

उनकी इस अभूतपूर्व उपलब्धि के बाद उनके परिवार में खुशी का माहौल है, उनके घर पर बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है। उनकी उपलब्धि निश्चित रूप से अन्य लड़कियों को आगे आने और अपना जीवन पूरी तरह से जीने के लिए प्रेरित करेगी। मिली जानकारी के मुताबिक, इस अभूतपूर्व उपलब्धि को हासिल करने वाली गीतिका चुफाल मूल रूप से राज्य के पिथौरागढ़ जिले के डीडीहाट तहसील क्षेत्र के सीनी गांव की रहने वाली हैं।

गीतिका के परिवार का एक सैन्य परिवार का लंबा इतिहास है, उनका परिवार वर्तमान में राज्य के उधम सिंह नगर जिले में रह रहा है। खटीमा तहसील क्षेत्र के वार्ड नंबर 18 टीचर्स कॉलोनी में रहते हैं। उनके पिता बलबीर सिंह चुफाल एक पूर्व सैनिक हैं जबकि उनकी मां पुष्पा चुफाल एक कुशल गृहिणी हैं। अपनी बेटी की इस अभूतपूर्व उपलब्धि से उनके परिवार की खुशी का ठिकाना नहीं है और वे गर्व महसूस कर रहे हैं.

Leave a comment