मिलिए उत्तराखंड के सबसे खुश परिवार से, उखीमठ का अविनाश सेमवाल बड़े भाई को देख बना सेना में पायलट

bikram

उत्तराखंड एक ऐसा राज्य है जहां के अधिकतर युवा या तो सेना में हैं या फिर उसकी तैयारी कर रहे हैं। इन लोगों के खून में ही सेना में जाना एक सैन्य परंपरा बनती जा रही है। उत्तराखंड के होनहार युवा सेना में भर्ती होकर राज्य का मान बढ़ा रहे हैं।

बड़ा भाई सेना में अफसर तो छोटा भाई नौसेना में पायलट

आज हम आपको उत्तराखंड के सबसे खुशहाल परिवार में से एक की कहानी के बारे में बताने जा रहे हैं। जहां पूरा परिवार इस खुशखबरी को पाकर गौरवान्वित है। हम बात कर रहे हैं उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग जिले के उखीमठ ब्लॉक में रहने वाले अविनाश सेमवाल के परिवार की। यहां रहने वाले अविनाश सेमवाल ने नौसेना में पायलट बनकर राज्य का नाम रोशन किया है। उथिंड गांव में अविनाश सेमवाल का परिवार रहता है। आईएएस भारतीय नौसेना सेवा, चेन्नई में शुक्रवार को पासिंग आउट परेड का आयोजन किया गया।

इस अवसर पर अविनाश के पिता भगवती प्रसाद सेमवाल, माता मीना देवी सहित अन्य सदस्य उपस्थित थे। माता-पिता ने अपने बेटे के कंधे को सितारों से सजाया। इस दौरान उनके चेहरे पर खुशी साफ झलक रही थी। अविनाश के पिता को आज उस पर इतना गर्व है कि उन्होंने कहा कि उनके पास अपनी खुशी बयां करने के लिए शब्द नहीं हैं। उन्होंने कहा कि उनके बेटे ने देश सेवा की राह पर आगे बढ़कर परिवार का गौरव बढ़ाया है।

खास बात यह है कि अविनाश के बड़े भाई राजेश सेमवाल भी भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट कर्नल के पद पर तैनात हैं। आपको बता दें कि अविनाश का चयन साल 2016 में एनडीए में हुआ था। वह हमेशा से भारतीय रक्षा का हिस्सा बनना चाहते थे और इस सपने को पूरा करने के लिए उन्होंने दिन-रात कड़ी मेहनत की। उनके पायलट बनने से गांव में खुशी का माहौल है।

केदारनाथ विधायक शैलारानी रावत और पूर्व विधायक आशा नौटियाल सहित राज्य की कई बड़ी हस्तियों और अन्य प्रतिनिधियों ने अविनाश की उपलब्धि पर खुशी जताई और उन्हें भविष्य के लिए शुभकामनाएं दीं।

Leave a comment