कुछ ही देर में शुरू होगा उत्तराखंड का ग्लोबल इन्वेस्टर समिट, दुनिया की रहेगी इस पर निगाहे आप भी जाने क्यों है खास

bikram

निवेशक वैश्विक शिखर सम्मेलन की उलटी गिनती शुरू हो गई है, मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी का तीन सपना आखिरकार साकार हो रहा है। इसके लिए उन्होंने 08 और 09 दिसंबर को एफआरआई में आयोजित होने वाले डेस्टिनेशन उत्तराखंड ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट की तैयारियों के लिए कार्यक्रम स्थल पर की गई सभी व्यवस्थाओं का जायजा लिया।आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 08 दिसंबर को कार्यक्रम का उद्घाटन करने के लिए देहरादून आएंगे, जबकि गृह मंत्री अमित शाह 9 दिसंबर को समापन कार्यक्रम में भाग लेंगे।

निवेशकों के लिए होगा उत्तराखंड की नीतियों का सरलीकरण

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि डेस्टिनेशन उत्तराखंड ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट के तहत भविष्य में उत्तराखंड की अर्थव्यवस्था को निश्चित रूप से बढ़ावा मिलेगा, क्योंकि अब तक 3 लाख करोड़ रुपये के समझौते हो चुके हैं, जबकि 44 हजार करोड़ रुपये के समझौतों की ग्राउंडिंग हो चुकी है। किया गया। उन्होंने कहा कि निवेशकों द्वारा देवभूमि उत्तराखंड में काम करने के प्रति दिखाई जा रही रुचि राज्य की प्रगति के लिए नई ऊर्जा का संचार कर रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में शिक्षा एवं चिकित्सा के क्षेत्र में भविष्य की अनेक सम्भावनाएं हैं, इन क्षेत्रों पर विशेष फोकस किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इन्वेस्टर्स समिट के तहत हुए समझौतों को क्रियान्वित करने का कार्य तेजी से चल रहा है। अधिकारियों को कार्य की नियमित समीक्षा करने का निर्देश दिया गया है. मुख्यमंत्री ने कहा कि इन्वेस्टर्स समिट में देश-विदेश के बड़े उद्योगपति भाग ले रहे हैं. राज्य की आवश्यकता के अनुसार स्वास्थ्य, कल्याण, शिक्षा, चिकित्सा, पर्यटन, ऑटोमोबाइल, फार्मा जैसे विभिन्न क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित किया गया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जिन निवेशकों के साथ अनुबंध पर हस्ताक्षर किये गये हैं, उन्हें सक्षम बनाने के लिए नीतियों को भी सरल बनाया जा रहा है। उत्तराखंड ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में निवेशकों के सुझावों के आधार पर 27 नई नीतियां बनाई गई हैं। इस दशक को उत्तराखंड का दशक बनाने के लिए प्रधानमंत्री के मार्गदर्शन में राज्य सरकार द्वारा हर क्षेत्र में तेजी से काम किया जा रहा है।

Leave a comment