आधी रात में हल्द्वानी में हाथी ने मचाया उत्पात, आप भी देखें कैसे कार को फुटबॉल समझकर करा मारी लात

bikram

उत्तराखंड में बाघ और तेंदुओं के बीच मुठभेड़ आम बात है। हर रोज आपको ऐसी घटना सुनने को मिलती है जहां उत्तराखंड के पहाड़ी इलाकों में लोग तेंदुए और बाघों से आतंकित थे लेकिन आज हम बात कर रहे हैं तराई इलाकों ( हल्द्वानी ) में हाथियों द्वारा मचाए गए उत्पात के बारे में।

पटाखे जला कर भगाया जंगल में दहशत में लोग

ये घटना है नैनीताल जिले के हलद्वानी से सटे कालाढूंगी की.यहां कमोला इलाके में एक हाथी ने उत्पात मचाया। जब हाथी को गुस्सा आया तो उसने अपना सारा गुस्सा घर में खड़ी कार पर निकाला। हाथी के गुस्से का आपने कभी अंदाजा नहीं लगाया होगा लेकिन कार की हालत देखकर आप अंदाजा लगा सकते हैं। हलद्वानी में तराई के जंगलों से लगे इलाकों में हाथियों का आतंक चरम पर है।

हाथी आबादी वाले इलाकों में घुसकर जान-माल को नुकसान पहुंचा रहे हैं। जिस वाहन को हाथी ने घायल किया है वह स्थानीय निवाली विमल पंत का है। हाथी जंगल से निकलकर विमल के घर के पास पहुंच गया और आंगन में खड़ी कार को क्षतिग्रस्त कर दिया। हाथी ने आंगन में खड़ी कार को खेत में फेंक दिया। साथ ही तोड़फोड़ भी की, विमल पंत ने बताया कि देर रात उन्हें घर के पास तेज आवाजें सुनाई दीं।

जब वह छत पर चढ़े तो देखा कि हाथी उनकी कार में तोड़फोड़ कर रहा है। हाथी को भगाने के लिए विमल ने पटाखे फोड़े और फिर हाथी जंगल की ओर चला गया। ग्रामीणों का कहना है कि गांव में लगातार हाथियों का आतंक बना हुआ है। सिर्फ संपत्ति ही नहीं बल्कि ये हाथी कभी फसलों को नुकसान पहुंचाते हैं तो कभी घरों में तोड़फोड़ करते हैं। ग्राम प्रधान चंद्र प्रकाश बुधलाकोटी ने वन विभाग से पीड़ित को मुआवजा देने की मांग की है। साथ ही गांव में गश्त बढ़ाने को भी कहा।

Leave a comment