उत्तराखंड में अब सड़क पर नियम तोड़ने वालों की खैर नहीं, घर आएगा चालान और वाहन होगा ब्लैक लिस्टेड

bikram

सड़क पर वाहन चलाते समय यातायात नियमों का पालन अवश्य करना चाहिए। ये नियम हमारी सुरक्षा के लिए हैं, लेकिन फिर भी कई लोग इन नियमों से बच रहे हैं।उत्तराखंड में अब पुलिस मनोरंजन के लिए बार-बार ट्रैफिक नियम तोड़ने वालों को सबक सिखाने के लिए ज्यादा से ज्यादा ऑनलाइन चालान काटने की योजना बना रही है।

कैमरा से कटेगा चालान और डाक से भेजा जायेगा घर

करीब 25 फीसदी चालान इंटरसेप्टर, स्पीड रडार गन और एएनपीआर कैमरे की मदद से किए जा रहे हैं। डिफॉल्टरों को चालान का मैसेज वाहन मालिक के मोबाइल नंबर पर भेजा जाएगा, लेकिन अब ऑनलाइन चालान के बाद वाहन मालिक को नोटिस भी भेजा जाएगा। इसके अलावा वाहन मालिक के घर के पते पर डाक के माध्यम से नोटिस भेजा जाएगा। प्रदेश में ओवर स्पीडिंग, बिना हेलमेट गाड़ी चलाने और ट्रिपल राइडिंग और सिग्नल तोड़ने पर चालान काटे जा रहे हैं।

चालान का मैसेज वाहन मालिक के मोबाइल नंबर पर भेजा जाता है, लेकिन यहां समस्या यह है कि कई वाहन मालिकों के नंबर अपडेट नहीं हैं, इसलिए अब चालान के बाद उनके घर के पते पर भी नोटिस भेजा जाएगा। यह जानकारी आरटीओ प्रवर्तन शैलेश तिवारी ने दी। उन्होंने बताया कि ऑनलाइन चालान के साथ वाहन मालिक के घर पर डाक के माध्यम से नोटिस भी भेजा जाएगा। यह भी विशेष रूप से उल्लेखित है कि जब तक चालान का भुगतान नहीं किया जाता, वाहन ब्लैकलिस्टेड रहेगा। और इस दौरान वाहन टैक्स जमा करने सहित अन्य कार्य नहीं हो सकेंगे।

चालान का भुगतान होने तक वाहन किसी को नहीं बेचा जा सकता। इसके अलावा हर महीने 25 फीसदी चालान इंटरसेप्टर, स्पीड राडार गन और एएनपीआर कैमरे की मदद से किए जा रहे हैं, लेकिन जिन लोगों के नंबर बंद हो गए हैं, या जिन्होंने नए नंबर अपडेट कराए हैं, उन्हें चालान नहीं मिल रहे हैं। इसलिए अब ऑनलाइन चालान के बाद वाहन मालिक के घर के पते पर भी नोटिस भेजा जाएगा. उन्होंने कहा कि आजकल रैश ड्राइविंग के मामले बहुत बढ़ रहे हैं और स्कूली बच्चे भी लापरवाही से गाड़ी चला रहे हैं। अब सड़कों पर स्टंट दिखाने वाले युवाओं पर भी जुर्माना लगाया जाएगा।

Leave a comment