रुद्रप्रयाग में बनेगा उत्तराखंड का पहला सिग्नेचर ब्रिज, जानिए खूबसूरत कर्व ब्रिज कि खासियत

bikram

उत्तराखंड में ऑल वेदर रोड का काम तेजी से चल रहा है। श्रद्धालुओं के लिए यात्रा को बेहतर बनाने की पहल, चारधाम के सभी रूट अपडेट किए गए। इसके अलावा अब उत्तराखंड राज्य में पहला घुमावदार पुल या सिग्नेचर ब्रिज बनाया जाएगा। यह खूबसूरत पुल ऋषिकेश-बद्रीनाथ हाईवे पर नरकोटा में बनाया जाएगा।

64 करोड़ रुपये की लागत से तैयार होगा 110 मीटर लंबा पुल

ऑल वेदर रोड प्रोजेक्ट के तहत 64 करोड़ रुपये की लागत से 110 मीटर लंबे पुल का निर्माण कार्य जोरों पर है. मई 2024 तक पुल से वाहनों के परिचालन का लक्ष्य रखा गया है.ऑल वेदर रोड परियोजना के तहत ऋषिकेश-बद्रीनाथ राजमार्ग पर नरकोटा में घुमावदार मोटर पुल का निर्माण किया जा रहा है। इसकी सुरक्षा के लिए दोनों तरफ और ऊपर की तरफ सेफ्टी केबल लगी होगी।

हम आपको इस पुल की विशिष्टता के बारे में बताना चाहते हैं। बताया जा रहा है कि इस सिग्नेचर ब्रिज का डिजाइन इसका मुख्य आकर्षण होगा. 110 मीटर लंबे इस पुल के निर्माण में पिछले 11 महीने से मजदूर और इंजीनियर दिन-रात काम कर रहे हैं, जिसके दोनों पिलर का काम अंतिम चरण में है। पुल को मंजूरी मिलने के बाद से ही यह विवादों में रहा है। यह सिग्नेचर ब्रिज शुरू से ही विवादों में रहा है। पुल के रुद्रप्रयाग की तरफ के खंभों पर काम शुरू हो गया था, लेकिन श्रीनगर की तरफ के खंभों का काम अभी पूरा नहीं हुआ था।

इसकी वजह जमीन विवाद बताया गया. यहां पिलर का डिजाइन दो बार बदलना पड़ा। दिसंबर 2022 में दोबारा मिट्टी का परीक्षण कर डिजाइन बदला गया और जनवरी 2023 से काम शुरू हुआ। इसी बीच पिछले साल जुलाई माह में जब पुल का काम चल रहा था तो शटरिंग गिरने से दो मजदूरों की मौत हो गयी। जिसके बाद मिट्टी की जांच कर डिजाइन में बदलाव किया गया। अब पुल निर्माण का काम तेजी से चल रहा है। ऑल वेदर रोड प्रोजेक्ट के तहत मई 2024 तक पुल पर वाहनों के परिचालन का लक्ष्य रखा गया है।

Leave a comment