सूखी सर्दी से उत्तराखंड में परेशान रहेगा मैदान, पहाड़ो में बर्फ़बारी से होगी मुश्किल

bikram

उत्तराखंड में सर्दी का सितम अपना असर दिखाने लगा है। उत्तराखंड के कई जिलों में ठंड बढ़ती जा रही है। पहाड़ों पर हुई ताजा बर्फबारी के बाद निचले इलाकों में भी तापमान में गिरावट आई है। पिछले दो दिनों से देहरादून में लोगों को कड़ाके की ठंड का अहसास देखने को मिल रहा है। पहाड़ों से सटे इलाके में यहां बेहद ठंड पड़ती है। बद्रीनाथ, केदारनाथ और हेमकुंड साहिब समेत चारधाम बर्फ से ढक गए हैं।

चमोली की घाटियों में तापमान पंहुचा शून्य से नीचे

आज भी ऊंचाई वाले इलाकों में बारिश और बर्फबारी की संभावना है. मौसम विभाग ने उत्तरकाशी, बागेश्वर, चमोली और पिथौरागढ़ में बारिश की संभावना जताई है। 3500 मीटर से अधिक ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी हो सकती है। मैदानी इलाकों में कोहरा छाने से दिक्कतें बढ़ेंगी।हरिद्वार और उधम सिंह नगर के मैदानी इलाकों में कोहरा छाया रह सकता है। राज्य के पहाड़ी इलाकों में ठंड चरम पर है। यहां चमोली की नीती घाटी में रात के समय तापमान माइनस 10 डिग्री पर है, जिसके कारण झरने और पाइपों में पानी पूरी तरह से जम गया है।

नीति घाटी में गुरुवार को बर्फबारी हुई, जिससे पूरे इलाके में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। वहीं, मलारी से ऊपरी क्षेत्र गमशाली, नीती, फरकिया, मलारी आदि गांवों में बर्फबारी हुई है। सूरज ढलते ही तापमान अचानक माइनस में पहुंच जाता है। जगह-जगह स्थानीय लोगों के लिए समस्याएँ पैदा हो गई हैं और नीती में सड़कों पर पाला जमने लगा है और रास्तों पर वाहन चलाना खतरनाक हो गया है।

इन दिनों यहां केवल सेना के जवानों का आना-जाना लगा रहता है। ठंड बढ़ते ही दुर्लभ प्रजाति के वन्य जीव निचले इलाकों की ओर रुख करने लगे हैं। आने वाले दिनों में ठंड और बढ़ेगी। आज पूरे राज्य में मौसम शुष्क रहने की उम्मीद है।

Leave a comment