उत्तरकाशी के सुधांशु में रचा इतिहास, उत्तराखंड के लिए UPSC के IES में पाई 27वी रैंक

bikram

आज उत्तराखंड राज्य के होनहार युवा न केवल उत्तराखंड में बल्कि देश के बाहर भी अपना नाम रोशन कर रहे हैं। वे हर क्षेत्र में अपने शानदार प्रदर्शन से प्रदेश को हर पल गौरवान्वित महसूस करा रहे हैं। प्रदेश के ये होनहार युवा आज किसी भी क्षेत्र में पीछे नहीं हैं। हम आज यहां आपके लिए एक ऐसे युवा की कहानी पेश कर रहे हैं।

सुधांशु की कामयाबी के बाद घर पर ख़ुशी का माहौल

जिसने अपनी काबिलियत के दम पर सफलता के ऊंचे मुकाम हासिल किए हैं, जो अक्सर हमारे बीच आती रहती है। इसी कड़ी में आज हम आपको प्रदेश के एक और होनहार युवा से मिलवाने जा रहे हैं। आज पुर आर्टिकल में हम आपको राज्य के एक और होनहार युवा से मिलवाने जा रहे हैं। राज्य के सुधांशु भंडारी ने UPSC की भारतीय इंजीनियरिंग सेवा (IES) परीक्षा 2023 में अखिल भारतीय स्तर पर 27वीं रैंक हासिल कर पूरे राज्य को गौरवान्वित किया है।

सुधांशु भंडारी मूल रूप से राज्य के उत्तरकाशी जिले के मोरी विकासखंड के नानाई गांव के निवासी हैं। हा ने अपनी अभूतपूर्व उपलब्धि से पूरे उत्तराखंड का नाम रोशन किया है। सुधांशु भंडारी ने अपनी मेहनत और लगन से यह उपलब्धि हासिल की है. UPSC की भारतीय इंजीनियरिंग सेवा परीक्षा 2023 में अखिल भारतीय स्तर पर 27वां स्थान हासिल करना कोई आसान काम नहीं है।

चूंकि UPSC देश की सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक है। लेकिन तमाम बाधाओं के बावजूद उसने अपने माता-पिता और क्षेत्र का नाम रोशन किया है। सुधांशु भंडारी ने अपनी प्राथमिक शिक्षा मोरी के स्कूल से ही प्राप्त की। इसके बाद उन्होंने 2019 में एनआईटी श्रीनगर से बी.टेक करके ग्रेजुएशन पूरा किया। ग्रेजुएशन के दौरान सुधांशु भंडारी एनआईटी श्रीनगर के बी.टेक बैच में गोल्ड मेडलिस्ट भी रहे।

सुधांशु की मां उजला भंडारी उप जिला चिकित्सालय पुरोला में सुपरवाइजर के पद पर कार्यरत हैं। उनकी इस उपलब्धि से उनके गांव और क्षेत्र में खुशी का माहौल है. बेटे की इस उपलब्धि से उनका परिवार बेहद खुश है और उनके घर पर बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है.

Leave a comment