एक बार फिर तैयार है पर्यटकों के लिए औली, 3000 फ़ीट पर स्कीइंग और जानीए क्या है इस जगह से हनुमान जी का नाता

bikram

उत्तराखंड में बहुत सारे स्थान हैं जहां लोग अपनी सर्दियों का आनंद ले सकते हैं। यह राज्य पर्यटन के क्षेत्र में विशेष स्थान रखता है। वॉटर स्पोर्ट्स से लेकर आप नौकायन, सर्फिंग, रिवर राफ्टिंग और कई अन्य चीजों का आनंद ले सकते हैं। लेकिन आज हम आपको औली में स्कीइंग के बारे में जानकारी दे रहे हैं।

संजीवनी लेने के लिए यही रुके थे हनुमान जी

रिवर राफ्टिंग के लिए लोग ऋषिकेश पहुंचते हैं और औली स्कीइंग के लिए मशहूर है। इस वर्ष भी औली पर्यटन तैयार है, वहां सर्दियों के लिए मेहमानों का स्वागत किया जाएगा और विभिन्न बर्फ गतिविधियों का आयोजन किया जाएगा। चमोली जिले का औली स्की रिजॉर्ट और हिल स्टेशन पर्यटकों के इंतजार में है। पर्यटक यहां प्राकृतिक सुंदरता के अलावा विभिन्न प्रकार की साहसिक गतिविधियों का आनंद ले सकते हैं।

पिछले साल जोशीमठ में भूस्खलन और क्षेत्र में दरारें आने के कारण जोशीमठ में पर्यटन काफी प्रभावित हुआ था, जिससे लोगों ने औली की ओर जाना कम कर दिया था। पर्यटक यहां आने से कतराते थे, लेकिन अब स्थिति बदल गई है, एक बार फिर पर्यटक जीएमवीएन के गेस्ट हाउस और अन्य स्थानों के होटलों में कमरे बुक कराने लगे हैं, जो पर्यटन की दृष्टि से अच्छा संकेत है।

टूर कंपनियों का कारोबार पहले से ही बढ़ गया है क्योंकि उनके पास बड़ी संख्या में बुकिंग आ रही हैं। टूर कंपनियों ने पर्यटकों के लिए सस्ते और किफायती टूर पैकेज भी तैयार किए हैं। औली से ऊंची हिमालयी पहाड़ियों का खूबसूरत नजारा देखा जा सकता है, यहां पर्यटक कई तरह की साहसिक गतिविधियों का आनंद ले सकते हैं। औली को भारत के सर्वश्रेष्ठ स्कीइंग स्थानों में भी गिना जाता है। यहां मां अंजनी का एक विशेष मंदिर भी है।

ऐसा कहा जाता है कि भगवान हनुमान संजीवनी बूटी लेने के लिए हिमालय की ओर जाते समय विश्राम करने के लिए यहीं रुके थे। आज भी इस मंदिर में लोगों की भीड़ लगी रहती है। औली में स्कीइंग और ट्रैकिंग की जा सकती है। यह स्थान समुद्र तल से लगभग 3000 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है।

हरी-भरी वादियों वाला औली सर्दियों में पूरी तरह से बर्फ से ढक जाता है, यहां से आप हिमालय की खूबसूरत घाटियों को देख सकते हैं।

Leave a comment