क्रिकेट में उत्तराखंड अंडर 23 टीम ने रचा इतिहास, होनहार खिलाड़ियों की बदलौत पहली बार पहुंची फाइनल में

bikram

देश में क्रिकेट वर्ल्ड कप खत्म हो चुका है लेकिन क्रिकेट का क्रेज खत्म नहीं हुआ है. टीम इंडिया की दुखद हार से हर कोई दुखी है लेकिन राष्ट्रीय क्रिकेट का क्रेज अभी खत्म नहीं हुआ है। देश में अंडर 23 वनडे टूर्नामेंट चल रहा है। हर कोई अपने राज्य का समर्थन कर रहा है। हमारा राज्य उत्तराखंड भी टीजीई टूर्नामेंट में बहुत अच्छा प्रदर्शन कर रहा है। उत्तराखंड क्रिकेट टीम ने इस बार अंडर-23 वनडे टूर्नामेंट में इतिहास रच दिया है।

कर्नाटक को पहली बार फाइनल में बनाया स्थान

टीम ने पहली बार टूर्नामेंट के फाइनल में जगह बनाई है। सेमीफाइनल मुकाबले में उत्तराखंड ने कर्नाटक को 6 विकेट से हराया। उत्तराखंड क्रिकेट टीम ने कर्नाटक द्वारा दिए गए 231 रन के लक्ष्य को 13 गेंद शेष रहते हासिल कर लिया। हम आपको मैच का सारांश देना चाहेंगे। कर्नाटक ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवर में 9 विकेट के नुकसान पर 230 रन बनाए।

कर्नाटक की ओर से बल्लेबाजी करते हुए यशवर्धन प्रताप ने सबसे ज्यादा 57 रनों की पारी खेली। इसके अलावा कोई भी बल्लेबाज बड़ा स्कोर बनाने में सफल नहीं रहा। उत्तराखंड के लिए सत्यम, अंकित और देवेंद्र ने दो-दो विकेट लिए। लक्ष्य का पीछा करने उतरी उत्तराखंड की शुरुआत अच्छी नहीं रही और ओपनर कार्तिक भट्ट सिर्फ एक रन बनाकर पवेलियन लौट गए। इसके बाद टीम की सबसे भरोसेमंद जोड़ी अवनीश सुधा और कमल कन्याल ने तीसरे विकेट के लिए 86 रन जोड़े।

कमल 45 रन बनाकर आउट हुए। इसके बाद सुधा और आर्यन शर्मा के बीच चौथे विकेट के लिए 115 रनों की साझेदारी हुई, जिसने मैच का रुख उत्तराखंड की ओर मोड़ दिया। आर्यन ने 48 रन बनाए जबकि अवनीश सुधा ने टूर्नामेंट का तीसरा शतक लगाया। उन्होंने 121 रनों की पारी खेली, जिसकी बदौलत उत्तराखंड की टीम ने पहली बार अंडर-23 वनडे टूर्नामेंट के फाइनल में जगह बनाई है।

2018 से घरेलू क्रिकेट सर्किट में हिस्सा ले रही उत्तराखंड क्रिकेट टीम के लिए यह एक बड़ा मौका है। टीम ने 5 साल में बहुत कुछ हासिल किया है लेकिन फाइनल में पहुंचना अब तक का सबसे बड़ा रिकॉर्ड है। इससे निश्चित रूप से खिलाड़ियों का आत्मविश्वास बढ़ेगा और वे प्रतियोगिता जीतने में सक्षम हो सकते हैं।

TAGGED:
Leave a comment