कम होगी पिथौरागढ़ लोहाघाट की दूरी, चम्पावत में बनेगा 10 किलोमीटर वाला सुरंग बाईपास

bikram

उत्तराखंड के दूरस्थ स्थानों को ऑल वेदर रोड से जोड़ने की योजना पर तेजी से काम चल रहा हैयात्रा को सुरक्षित और कुशल बनाने का विचार। टनकपुर तवाघाट राष्ट्रीय राजमार्ग पर डबल लेन हाईवे का निर्माण ऑल वेदर रोड परियोजना के तहत किया जा रहा है। इस रूट पर सफर करने वाले लोगों के लिए एक अच्छी खबर है।

अब वाहनों को चंपावत बाजार से होकर नहीं गुजरना पड़ेगा। दरअसल, टनकपुर-पिथौरागढ़ बारहमासी सड़क के बीच में पड़ने वाले चंपावत नगर में प्रस्तावित बाईपास निर्माण की बाधा कार्यदायी एजेंसियों ने दूर कर ली है। बताया गया है कि अब इस बाईपास का निर्माण एक सुरंग के जरिए किया जाएगा। सबसे खास बात यह है कि इसकी विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (डीपीआर) जो राष्ट्रीय राजमार्ग निर्माण खंड लोहाघाट ने तैयार की है, उसे राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण यानी केंद्र सरकार ने मंजूरी दे दी है।

इस संबंध में एनएच के ईई सुनील कुमार ने बताया कि चंपावत में 2.85 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले 10 किमी लंबे इस बाईपास की डीपीआर को केंद्र सरकार से मंजूरी मिल गई है। आपको बता दें कि केंद्र से मंजूरी मिलने के बाद टनकपुर से पिथौरागढ़ की दूरी कम हो जाएगी और वाहनों को बाजार से होकर नहीं गुजरना पड़ेगा।

इससे न सिर्फ ट्रैफिक जाम की समस्या दूर होगी बल्कि सड़क चौड़ीकरण से प्रभावित जिलों को भी मदद मिलेगी. सैकड़ों भवन स्वामियों को भी राहत मिलेगी। इसके साथ ही आपको यह भी बता दें कि लोहाघाट और पिथौरागढ़ नगर के बीच बाईपास का निर्माण किया जाएगा, जिसके लिए पहले सर्वे किया जाएगा, लेकिन एनएच की ओर से चार बार टेंडर आमंत्रित करने के बाद भी अब तक किसी भी कंसलटेंसी एजेंसी ने अपनी रुचि नहीं दिखाई है।

अब विभाग पांचवीं बार टेंडर प्रक्रिया आमंत्रित करने जा रहा है। जिसकी सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। यदि यह परियोजना समय पर बन जाती है तो लोगों को लोहाघाट से पिथौरागढ़ आने-जाने में कोई परेशानी नहीं होगी।

Leave a comment