नैनीताल में छुट्टीयां बिताने परिवार के साथ आये धोनी, सेमी फाइनल में जीत के लिए नीम करोली बाबा से मांगी दुआ

bikram

भारतीय टीम के सेमीफाइनल से पहले पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी दशकों बाद उत्तराखंड के कुमाऊं क्षेत्र में नैनीताल पहुंचे हैं। धोनी अपने परिवार और दोस्तों के साथ नैनीताल पहुंच गए हैं. बताया जा रहा है कि 19 नवंबर को अपनी पत्नी के जन्मदिन के मौके पर धोनी अपनी पत्नी साक्षी रावत के साथ हैं और इसी के चलते वह उत्तराखंड पहुंचे हैं।

अपने पैतृक गांव भी जा सकते है धोनी

इसके अलावा धोनी के अल्मोडा जिले में स्थित अपने पैतृक गांव जाने की भी अटकलें हैं। मंगलवार को धोनी पंतनगर एयरपोर्ट पहुंचे और उसके बाद नैनीताल के लिए रवाना हो गए. इसमें यह भी कहा जा रहा है कि धोनी ने कैंची धाम मंदिर में दर्शन किए होंगे लेकिन भारी भीड़ के कारण वह वापस नैनीताल लौट आए, हालांकि वह बुधवार को नीम करौली बाबा के दर्शन कर सकते हैं।

धोनी को पूरे भारत से कितना प्यार मिलता है, इसे किसी पैमाने पर नहीं मापा जा सकता। धोनी ने भारत के लिए अपना आखिरी मैच 2019 में न्यूजीलैंड के खिलाफ विश्व कप सेमीफाइनल में खेला था। पूरे भारत में धोनी के लिए प्यार उमड़ रहा है, लोगों के इस प्यार को मापने का कोई पैमाना नहीं बना है।

धोनी ने भारत के लिए अपना आखिरी मैच 2019 में विश्व कप सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के खिलाफ खेला था। भारत यह मैच हार गया था। लेकिन अब 15 नवंबर को भारत और न्यूजीलैंड एक बार फिर वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में आमने-सामने होंगे। बताया जा रहा है कि मैच से पहले धोनी नीम करोली बाबा के दर्शन करेंगे और भारतीय टीम के लिए आशीर्वाद मांगेंगे।

मैच से पहले धोनी नीम करोली बाबा के दर्शन करेंगे और आशीर्वाद लेंगे. भले ही धोनी के निजी उत्तराखंड दौरे का सेमीफाइनल और कैंची धाम से कोई लेना-देना नहीं है, लेकिन क्रिकेट प्रशंसक धोनी के दौरे को भारत के सेमीफाइनल से जोड़ने लगे हैं। उनका कहना है कि वह भारत की जीत के लिए धोनी और उनके फैंस नीम करौली बाबा से जरूर प्रार्थना करेंगे।

Leave a comment