उत्तराखंड के ऊंचे इलाको में बर्फ पड़ने की सम्भावना, निचले इलाको में हो सकती है बारिश सेहत का रखें ख्याल

bikram

उत्तराखंड और उत्तर भारत में ठंड ने अपने पैर जमाने शुरू कर दिए हैं. लेकिन मौसम विभाग ने लोगों को आगाह किया है कि वे अपना ख्याल रखें और ठंड का स्वागत करने के लिए तैयार रहें. बताया जा रहा है कि आज रात से प्रदेश में मौसम फिर बदलने जा रहा है।पहाड़ों पर बारिश और बर्फबारी की संभावना है, जिससे तापमान में गिरावट आएगी।

4000 मीटर से अधिक ऊंचाई वाले इलाकों में देखी जा सकती है बर्फबारी

इसके साथ ही कड़ाके की ठंड शुरू हो जाएगी। मौसम विभाग की ओर से 9 और 10 नवंबर के लिए पूर्वानुमान जारी किया गया है। इसके अनुसार बुधवार रात से गढ़वाल मंडल के कई जिलों में गरज वाले बादल बनने की संभावना है। इसके अनुसार बुधवार रात से गढ़वाल मंडल के कई जिलों में गरज वाले बादल बनने की संभावना है। जिसके चलते पहाड़ी इलाकों में बूंदाबांदी हो सकती है।

9 नवंबर को राज्य के देहरादून, टिहरी, पौडी, चमोली, उत्तरकाशी, पिथौरागढ और बागेश्वर में कहीं-कहीं हल्की बारिश की संभावना है। ऊंचे क्षेत्रों में बर्फबारी हो सकती है। 10 नवंबर को राज्य के अधिकांश जिलों में बारिश की संभावना है। मौसम विभाग के मुताबिक, देहरादून, पौडी, अल्मोडा, नैनीताल, चंपावत, उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग, बागेश्वर और टिहरी जिलों में गरज वाले बादल बन सकते हैं।

इसके चलते 10 नवंबर को कुछ स्थानों पर बारिश की भी संभावना है। 4000 मीटर से अधिक ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी देखी जा सकती है। मौसम बदलने के साथ ही मौसमी बीमारियों का प्रकोप भी बढ़ने लगा है। आजकल बहुत से लोगों के लिए वायरल हो रहा है, खासकर बच्चों और बूढ़ों के लिए। अस्पतालों में मरीजों की भीड़ उमड़ रही है। इस मौसम में विशेष सावधानी बरतने की जरूरत है।

मौसमी बीमारियां सबसे पहले कमजोर रोग प्रतिरोधक क्षमता वालों को परेशान करना शुरू करती हैं। सर्दियों में सर्दी, फ्लू, खांसी, ब्रोंकाइटिस और अस्थमा समेत कई संक्रामक बीमारियां हो सकती हैं। ऐसे में डाक्टर ने सभी को अपनी सेहत का खास ख्याल रखने को कहा है।

Leave a comment