उत्तराखंड की बेटी अनुप्रिया ने पहले पाई हरियाणा PCS में नौकरी, फिर भी नहीं रोकी तयारी अब UPSC में पाई 29वी रैंक

bikram

प्रदेश की होनहार बेटियां आज किसी भी क्षेत्र में पीछे नहीं हैं। एक बार फिर उत्तराखंड की एक बेटी अन्यप्रिया ने साबित कर दिया कि लड़कियां किसी से पीछे नहीं हैं। हम आपको उत्तराखंड के कई प्रतिभाशाली युवाओं से मिलवाते रहते हैं जिन्होंने अपनी काबिलियत के दम पर सफलता की नई ऊंचाइयां हासिल की हैं। आज हम आपको राज्य की एक और ऐसी होनहार बेटी से मिलवाने जा रहे हैं, जिसने संघ लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित सिविल सेवा परीक्षा 2022 सफलतापूर्वक उत्तीर्ण की है।

पहले ही बारी में पास किया हरियाणा PCS की परीक्षा

आज हम बात कर रहे हैं अनुप्रिया राय की, जो मूल रूप से राज्य के चंपावत जिले के लोहाघाट क्षेत्र की रहने वाली हैं, उनका नाम सिविल सेवा परीक्षा 2022 की आरक्षित सूची में शामिल किया गया था जो अब संघ लोक सेवा आयोग द्वारा जारी की गई है। आपको बता दें कि 89 उम्मीदवारों की इस सूची में अनुप्रिया का नाम 29वें नंबर पर है। सबसे खास बात यह है कि अनुप्रिया पहले ही हरियाणा पीसीएस परीक्षा पास कर चुकी हैं और वर्तमान में हरियाणा सरकार में पीसीएस अधिकारी के पद पर कार्यरत हैं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार, मूल रूप से राज्य के चंपावत जिले के लोहाघाट क्षेत्र के कालीगांव के टूना तोक की रहने वाली अनुप्रिया राय का चयन यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा 2022 की आरक्षित सूची में हुआ है। अनुप्रिया राय ने अपने पहले ही प्रयास में हरियाणा पीसीएस परीक्षा उत्तीर्ण कर ली थी और वह वर्तमान में हरियाणा सरकार में पीसीएस अधिकारी बीडीपीओ के पद पर तैनात हैं। नौकरी मिलने के बाद उन्होंने नौकरी पर रहते हुए भी सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी जारी रखी।

अपनी कड़ी मेहनत के दम पर उन्होंने महज आठ महीने के भीतर यह उत्कृष्ट उपलब्धि हासिल की, आपको बता दें कि यह अभूतपूर्व सफलता हासिल करने वाली अनुप्रिया के पिता मुकुल राय और मां किरन राय लोहाघाट अस्पताल में फार्मासिस्ट के पद पर कार्यरत हैं। आपको बता दें कि अनुप्रिया बचपन से ही पढ़ाई में हमेशा अव्वल रहती हैं, उन्होंने साल 2016 में जवाहर नवोदय विद्यालय से इंटरमीडिएट की परीक्षा 95 फीसदी अंकों के साथ पास की थी।

इसके बाद उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री प्राप्त की। इसके बाद उन्होंने न सिर्फ हरियाणा पीसीएस परीक्षा पास की बल्कि इसमें टॉपर बनने का मुकाम भी हासिल किया। उनकी इस अभूतपूर्व उपलब्धि से उनके परिवार में खुशी का माहौल है। यहां तक ​​कि राज्य के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी भी अनुप्रिया को उनकी सफलता पर बधाई देने से खुद को नहीं रोक पा रहे हैं।

Leave a comment