एक बार फिर सही हुई मौसम विभाग की भविष्यवाणी, उत्तराखंड के पहाड़ी जिलों में हुई जमकर बर्फ़बारी

bikram

उत्तराखंड के पहाड़ी इलाकों में मौसम फिर बदल गया है। कई दिनों तक क्षेत्र में धूप खिलने के बाद आखिरकार शुक्रवार दोपहर को यमुनोत्री धाम समेत आसपास के इलाकों में बारिश हुई, जबकि बदरीनाथ धाम में चोटियां बर्फ से ढक गईं। इसके चलते चारधाम जिले में तीर्थयात्रियों को कड़ाके की ठंड का सामना करना पड़ रहा है। खुद को बचाने के लिए लोगों को अलाव का सहारा लेना पड़ रहा है। कहा जा रहा है कि आज भी चार हजार मीटर से अधिक ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी के कारण तापमान में गिरावट आएगी।

4 जिलों में मौसम विभाग ने जारी की चेतावनी, ठंड से राहत मिलने के आसार नही

हालांकि, मैदानी इलाकों में 6 नवंबर तक मौसम शुष्क रहेगा। जिन जिलों में आज बारिश और बर्फबारी की संभावना है, वे उत्तराखंड के ऊंचे क्षेत्र हैं जिनमें उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग, चमोली और पिथौरागढ़ जैसे जिले शामिल हैं। ऊंचाई वाले क्षेत्रों में अलग-अलग स्थानों पर हल्की बारिश के साथ बर्फबारी की भी संभावना है। मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि लोगों को ठंडी हवाओं से बचने के लिए खुद को तैयार रखने की जरूरत है, क्योंकि राज्य में भीषण शीतलहर चलने वाली है।

अगले 24 घंटों में राज्य के कुछ स्थानों पर बारिश और उच्च हिमालयी क्षेत्रों में बर्फबारी हो सकती है। मौसम विभाग के मुताबिक अगले 24 घंटों में हरियाणा, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में भी पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने वाला है, जिससे उच्च हिमालयी इलाकों में बर्फबारी होगी। आज उत्तरकाशी, पिथौरागढ़, रुद्रप्रयाग और चमोली जिले में रहने वाले लोगों को सावधान रहने की जरूरत है, क्योंकि अभी ठंड से राहत नहीं मिलने वाली है।

यहां बारिश से लोगों की परेशानी बढ़ जाएगी. बारिश और बर्फबारी के कारण तापमान में गिरावट आएगी, जिससे न सिर्फ पहाड़ी बल्कि मैदानी इलाकों में भी कड़ाके की ठंड शुरू हो जाएगी. पहाड़ी क्षेत्रों की यात्रा से पहले मौसम की जानकारी अवश्य ले लें। बदलते मौसम में अपनी सेहत का ख्याल रखें। चारधाम यात्रा पर आने वाले लोगों को विशेष चेतावनी दी जानी चाहिए कि सभी आवश्यक गर्म कपड़े अपने साथ रखना सुनिश्चित करें।

Leave a comment