रंग बदलने वाला है उत्तराखंड का मौसम, 3 जिलों में बारिश की सम्भावना

bikram

उत्तराखंड में मौसम एक बार फिर बदलाव की ओर है। पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता के कारण हिमालयी क्षेत्रों में मौसम का मिजाज बदल सकता है। राज्य में इंटर्नशिप की शुरुआत सूख चुकी है लेकिन अब एक अच्छी खबर है. उत्तराखंड में शुष्क हवाओं से बचने के लिए बारिश बहुत ज़रूरी है जो बहुत खतरनाक हैबारिश और बर्फबारी के कारण उत्तराखंड में इन दिनों जबरदस्त ठंड पड़ रही है।

उत्तराखंड के ऊंचाई वाले इलाकों में हो सकती है भारी बारिश

आज भी 4000 मीटर से अधिक ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी की संभावना है. खराब मौसम के कारण चमोली, बागेश्वर और पिथौरागढ़ जिले में रहने वाले लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। आज यहां बारिश हो सकती है। बारिश के आंकड़ों की बात करें तो इस साल राज्य में कुल बारिश सामान्य (31 मिमी) की तुलना में 20 मिमी हुई, जो 35 फीसदी कम है।

अल्मोडा (29 प्रतिशत अधिक) को छोड़कर सभी जिलों में वर्षा कम हुई। मानसून की विदाई से पहले ही बादलों की बेरुखी शुरू हो गई थी। मैदानी जिले उधम सिंह नगर और चंपावत में कोई बारिश दर्ज नहीं की गई। देहरादून में भी पिछले तीन साल में सबसे कम बारिश दर्ज की गई। मासिक आंकड़ों पर नजर डालें तो जून में 14 फीसदी कम बारिश हुई, जबकि जुलाई में 32 फीसदी ज्यादा बारिश हुई।

इसी तरह अगस्त में 06 फीसदी कम बारिश हुई. सितंबर में 17 प्रतिशत कम वर्षा हुई और अक्टूबर में 35 प्रतिशत कम वर्षा दर्ज की गई। हालांकि, इस बार अक्टूबर में ऊंचाई वाले इलाकों में तीन-चार दौर की बर्फबारी हो चुकी है और तापमान भी सामान्य के आसपास बना हुआ है। अक्टूबर के तीसरे सप्ताह में बारिश और बर्फबारी हुई, जिससे ठंड बढ़ गई। बारिश का मौसम शुरू होते ही पहाड़ों में कड़ाके की ठंड पड़ने लगती है। पश्चिमी विक्षोभ के असर से आज भी कई जिलों में मौसम बदलेगा।

Leave a comment