रुद्रप्रयाग में 1 साल में पार की 910 मीटर लंबी सुरंग, अब कम हो जाएगी गंगोत्री-केदारनाथ के बीच की दूरी

bikram

उत्तराखंड में ऑल वेदर रोड का काम लगातार तेजी से चल रहा है। हर धाम और शहर को इन सड़कों से जोड़ा जा रहा है। इसी बीच रुद्रप्रयाग जिले से एक अच्छी खबर सामने आई है. यहां रुद्रप्रयाग जिला मुख्यालय में एक 910 मीटर लंबी सुरंग पार की गई है जो ऋषिकेश-बद्रीनाथ और रुद्रप्रयाग-गौरीकुंड राष्ट्रीय राजमार्ग को जोड़ती है। कार्यदायी संस्था और सभी कर्मचारियों ने मिलकर तय समय से करीब दो माह पहले ही टनल पार कर ली है।

रंग लाई 150 लोगो की मेहनत, सुरंग पूरी होने में लगेंगे 2 साल

अंततः सुरंग के निर्माण कार्य में लगभग 150 मजदूर लगे और दो शिफ्टों में काम कर रहे थे। अब टनल में दूसरे चरण का काम शुरू होग। इस सुरंग की खास बात यह है कि सुरंग निर्माण में बहुत कम विस्फोटकों का इस्तेमाल किया गया है। यह सबसे महत्वपूर्ण सुरंगों में से एक है क्योंकि यह धामों के बीच की दूरी को कम कर देगी।

आपको बता दें कि दिसंबर 2022 में भूमि पूजन के साथ सुरंग निर्माण का कार्य शुरू किया गया था। इसी साल मार्च में भारत कंस्ट्रक्शन कंपनी ने बेलानी और जगतोली से सुरंग के लिए खुदाई शुरू की थी। कंपनी ने दिसंबर तक इस सुरंग को पार करने का लक्ष्य हासिल कर लिया था। कंपनी ने 150 मजदूरों और मशीनों की मदद से सात महीने में सुरंग पार की।

सोमवार को कंपनी के आला अधिकारियों की मौजूदगी में शाम छह बजे बेलानी से जगतोली तक 910 मीटर सुरंग को पार किया गया. समापन के बाद कार्यकर्ताओं ने फूल-मालाओं और आतिशबाजी के साथ जश्न मनाया। उन्होंने बांटी मिठाइयां ऑल वेदर रोड परियोजना के तहत सुरंग के साथ ही अलकनंदा नदी पर 200 मीटर लंबा मोटर पुल भी प्रस्तावित है. एनएच अधिकारियों के मुताबिक जून 2025 तक प्रोजेक्ट का काम पूरा हो जाएगा।

Leave a comment