उत्तराखंड के विमल को सेना में बड़ी सफलता, M.Tech करते हुए CDS में पाई AIR 7

bikram

उत्तराखंड का सेना प्रेम पूरी दुनिया में जाना जाता है। उत्तराखंड के युवाओं में सेना के प्रति रुझान दिन-ब-दिन तेजी से बढ़ रहा है। भारतीय सेना में सेवा देने के लिए उत्तराखंड के युवाओं में होड़ मची हुई है। युवा विभिन्न माध्यमों से रक्षा सेवा में शामिल होना चाहते हैं।

बागेश्वर के रीमा के रहने वाले है विमल पांडेय

ऐसे में एक अच्छी खबर सामने आई है, यहां बागेश्वर जिले के रीमा निवासी विमल पांडे का चयन भारतीय सेना की संयुक्त रक्षा सेवा (सीडीएस) में हुआ है। विमल का परिवार वर्तमान में ऊंचापुल, हल्द्वानी में रहता है। इस खुशखबरी के बाद शहर में खुशी की लहर है, मोहल्ले के सभी लोग विमल पांडे को बधाई दे रहे हैं।

CDS परीक्षा में भाग लेना उत्तराखंड में हर साल कई लोग करते हैं लेकिन अखिल भारतीय रैंक प्राप्त करना एक बड़ी बात है। गौरतलब है कि राष्ट्रीय स्तर की इस परीक्षा में विमल पांडे ने ऑल इंडिया टॉप 10 रैंक हासिल की है. विमल ने भारतीय सैन्य अकादमी में देश में सातवीं रैंक और भारतीय नौसेना अकादमी में देश में पहली रैंक हासिल की है।

विमल पांडे ने अपनी प्राथमिक शिक्षा व्हाइट हॉल स्कूल, हलद्वानी से पूरी की। इसके बाद उन्होंने सैनिक स्कूल घोड़ाखाल से 12वीं भी पास की। 12वीं के बाद विमल ने पंतनगर विश्वविद्यालय से बी.टेक में प्रवेश लेकर स्नातक की पढ़ाई पूरी की। वर्ष 2023 में बीटेक पास करने के बाद विमल का चयन आईआईटी कानपुर में एमटेक के लिए हुआ।

फिलहाल विमल पांडे आईआईटी कानपुर से एमटेक की पढ़ाई कर रहे हैं। विमल के पिता महेश चंद्र पांडे एक मल्टीनेशनल कंपनी के सेवानिवृत्त कर्मचारी हैं। उनकी मां रेनू पांडे एक कुशल गृहिणी हैं। सबसे महत्वपूर्ण और बड़ी बात यह है कि विमल ने अपने पहले प्रयास में ही सीडीएस परीक्षा पास कर ली है। अब उन्होंने आईआईटी की पढ़ाई छोड़कर नौकरी में जाने का फैसला किया है. उनकी इस उपलब्धि से रीमा क्षेत्र के साथ ही ऊंचापुल क्षेत्र में भी खुशी का माहौल है।

Leave a comment