उत्तराखंड के देवप्रयाग में हुआ अनोखा चमत्कार, सड़क की खुदाई के वक़्त मिली एक छुपी हुई गुफा दो शिवलिंग के साथ

bikram

उत्तराखंड भारत का एकमात्र राज्य है जहां आप उच्च हिमालय पर्वत से लेकर मैदानी इलाकों तक का भौगोलिक विभाजन देख सकते हैं। यह छिपा नहीं है कि यह स्थान अद्वितीय भूगोल और स्थलाकृतिक विशेषताओं से समृद्ध है, इसमें कई छिपे हुए स्थान हैं जिनका अभी तक पता नहीं लगाया जा सका है। हाल ही में, उत्तराखंड के टिहरी जिले में स्थित प्राचीन महड़ गांव में एक रहस्यमयी गुफा की खोज की गई है। आपको यह स्थान तब मिलेगा जब आप देवप्रयाग-हिंडोलाखाल मार्ग पर होंगे, जो देवप्रयाग से लगभग 7 किमी दूर है।

आश्चर्य की बात यह है कि यह गुफा खनन या पुरातत्व के दौरान नहीं मिली थी बल्कि देवप्रयाग में सड़क बनाते समय इसका अनावरण हुआ था।राजकीय इंटर कॉलेज महदजाली के पीछे पत्थर की दीवार के निर्माण के दौरान पहाड़ी काटते समय एक जेसीबी ऑपरेटर एक रहस्यमयी गुफा देखकर हैरान रह गया। खोजबीन करने पर उन्हें भगवान गणेश की दो मूर्तियों के साथ दो लिंग भी मिले और शेषनाग की एक मूर्ति भी मिली।

यहां के शिवलिंग और हिंदू देवताओं की मूर्तियां कई लोगों का ध्यान खींच रही हैं। स्थानीय लोग इसे भगवान का चमत्कार मान रहे हैं और गुफा में जाकर देवी-देवताओं की पूजा-अर्चना कर रहे हैं। इस बीच लोक निर्माण विभाग पुरानी देवप्रयाग-हिंडोलाखाल सड़क का जीर्णोद्धार कर रहा है।

Leave a comment