उत्तराखंड के मैदानो में ठंडी शीत लहर का खतरा, पहाड़ों में बर्फबारी से मौसम होगा ख़राब

bikram

उत्तराखंड में ठंड ने अपनी दस्तक दे दी है। आज भी प्रदेश में अधिकांश स्थानों पर आसमान में बादल छाए हुए हैं।चारधाम समेत आसपास के इलाकों में न्यूनतम तापमान अब भी शून्य से नीचे दर्ज किया जा रहा है और अधिकतम तापमान में भी दो से 4 डिग्री सेल्सियस की गिरावट आ रही है।

ख़राब मौसम के चलते तबियत बिगड़ने का ख़तरा ज़्यादा

पहाड़ों में ठंड बढ़ने लगी है। इस इलाके में हाल ही में बर्फबारी हुई है, जिसका असर अभी भी महसूस किया जा रहा है। आज यानी सोमवार को राज्य के पहाड़ी इलाकों में हल्की बारिश और बर्फबारी के आसार हैं। वहीं, निचले इलाकों में आंशिक रूप से बादल छाए रह सकते हैं।

उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग, बागेश्वर और पिथौरागढ़ में आंशिक से लेकर पूरी तरह से बादल छाए रह सकते हैं। जिसके चलते मौसम में बदलाव आया, अब तापमान में और गिरावट आएगी। इन दिनों देहरादून और आसपास के इलाकों में सुबह और शाम के समय ठंड बढ़ गई है।

रविवार को देहरादून में सुबह से ही आंशिक बादलों के बीच धूप के दर्शन हुए। शाम को हवा चलने से ठंड बढ़ गयी है। उधर, पहाड़ों में कुछ स्थानों पर घने बादलों के बीच हल्की बूंदाबांदी हुई, जिससे कंपकंपी बढ़ गई।

अब यात्रा सीजन भी अपने अंतिम चरण में है। चारधाम यात्रा की किस्मत जल्द ही बदलने वाली है। भारी बर्फबारी के कारण हेमकुंड और फूलों की घाटी के द्वार पहले से ही ठंडे हैं। इन दिनों इसकी चोटियां बर्फ की चादर से ढकी हुई हैं और केदारनाथ धाम में इसका नजारा दिखता है।

यहां आने वाले लोगों को कड़ाके की ठंड का सामना करना पड़ रहा है. जल्द ही चारधाम के कपाट बंद हो जाएंगे, इसलिए अधिक से अधिक लोग दर्शन के लिए चारधाम पहुंच रहे हैं। बदलता मौसम अपने साथ कई बीमारियाँ लेकर आता है, इसलिए अपनी सेहत को लेकर सावधान रहें। विशेषकर बच्चों, बुजुर्गों और गर्भवती महिलाओं के स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखें।

Leave a comment