उत्तराखंड की दुख और पीढ़ा बताएगी आरुषि निशंक की “काफल” वेब सीरीज, बॉलीवुड के कई बड़े चेहरे होंगे इसका हिस्सा

bikram

इन दिनों विभिन्न फिल्मों की शूटिंग के लिए उत्तराखंड स्टार्स की पहली पसंद बनता जा रहा है। कई सितारे शूटिंग के लिए इस जगह पर आ रहे हैं। उत्तराखंड की वादियों में या तो बड़े बैनर की फिल्में शूट हो रही हैं या फिर छोटे बैनर की। इन दिनों उत्तराखंड में वेब सीरीज काफल वेब सीरीज की शूटिंग की तैयारी चल रही है। करीब दो महीने से प्रस्तावित इस वेब सीरीज की शूटिंग शुरू हो चुकी है। इस प्रस्तावित वेब सीरीज की शूटिंग शुरू हो चुकी है और यह करीब दो महीने तक चलेगी। शूटिंग के लिए बॉलीवुड के कई दिग्गज नेता जैसे अभिनेता हेमंत पांडे, इश्तियाक खान और कई अन्य कलाकार नैनीताल पहुंच चुके हैं। आपको बता दें कि इस वेब सीरीज की निर्माता पूर्व मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक की बेटी आरुषि पोखरियाल हैं।

Kafal web series by arushi nishank will be release on Hotstar

आरुषि से बातचीत में उन्होंने बताया कि यह वेब सीरीज अगले साल अप्रैल-मई तक दर्शकों के बीच मौजूद रहेगी। उन्होंने बताया कि इस वेब सीरीज के जरिए वह न सिर्फ पहाड़ों की प्राकृतिक सुंदरता दिखाना चाहती हैं बल्कि यहां स्थानीय लोगों को जिन कठिन परिस्थितियों का सामना करना पड़ता है उससे भी दर्शकों को रूबरू कराना चाहती हैं। डिज्नी हॉटस्टार पर दिखाई जाने वाली इस फिल्म की शूटिंग नैनीताल और रानीखेत में की जाएगी जिसमें देवेंदु, हेमंत पांडे, इश्तियाक खान, मुक्ति मोहन और अन्य कलाकार अभिनय करेंगे।

आरुषि ने अपनी भविष्य की योजनाओं को साझा करते हुए कहा कि वह जल्द ही 6 नौसैनिक महिलाओं पर आधारित “तारिणी” नामक एक फिल्म का निर्माण करने जा रही हैं, जिसमें वह नाव में समुद्र की यात्रा करने वाली महिलाओं की कहानी दिखाएगी। उन्होंने यह भी बताया कि जल्द ही पहाड़ी बोली में भी फिल्में बनाई जाएंगी। नई फिल्म नीति के बाद जहां उत्तराखंड को सरकार से फिल्म निर्माण में सब्सिडी मिल रही है।

Kafal web series by arushi nishank will be release on Hotstar

वहीं बड़ी-बड़ी फिल्मी हस्तियां शूटिंग के लिए उत्तराखंड आने लगी हैं। इस बीच, नैनीताल पहुंचे फिल्म कलाकार हेमंत पांडे ने कहा कि साफ जलवायु, नीला आसमान और प्राकृतिक सौंदर्य से भरपूर पहाड़ के युवाओं में अभिनय और लेखन की प्रतिभा की कोई कमी नहीं है। उन्होंने यह भी कहा कि सरकार कुमाऊंनी और गढ़वाली बोली में फिल्म निर्माण पर 50 प्रतिशत सब्सिडी दे रही है, जिससे नये युवाओं को फिल्म निर्माण के प्रति प्रेरणा मिलेगी। आपको बता दें कि कफल के साथ-साथ उनकी फिल्म ‘पढ़ाई की लड़ाई’ भी जल्द ही अमेज़न पर प्रसारित होने वाली है।

Leave a comment