उत्तराखंड में मौसम ने आखिर बदल डाली करवट, सुबह 11 बजे आसमान में छाया घनघोर अंधेरा

bikram

एक बार फिर उत्तराखंड के मौसम ने मौसम विभाग की भविष्यवाणी को सही साबित कर दिया, बीते दिन से पूरे उत्तराखंड में मौसम ने करवट ले ली है। कल जहां चारधाम समेत प्रदेश के उच्च हिमालयी इलाकों में बारिश और बर्फबारी हुई, वहीं सोमवार दोपहर को नैनीताल और देहरादून समेत प्रदेश के विभिन्न जिलों में मौसम ने ऐसी करवट ली कि दोपहर होते-होते पूरे इलाके में चांदनी रात जैसा अंधेरा छा गया।

दिन में ही जलानी पड़ गई गाडि़यों की हेडलाइट

इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि घने अंधेरे के कारण दिन में ही वाहनों को हेडलाइट जलानी पड़ी। इस दौरान तेज तूफान भी देखने को मिला. हवा का तेज झोंका पूरे राज्य में महसूस किया जा रहा है। जिसके बाद तेज गड़गड़ाहट के साथ बारिश शुरू हो गई. मौसम का यह नजारा हलद्वानी और विकासनगर में भी देखने को मिला। जिसके बाद यहां भी बारिश शुरू हो गई है।

आपको बता दें कि केंद्रीय मौसम विभाग ने 18 अक्टूबर तक उत्तराखंड के पहाड़ी जिलों में बारिश का ऑरेंज और मैदानी इलाकों में येलो अलर्ट जारी किया है. आपको बता दें कि बारिश के साथ-साथ तूफान और तेज हवाओं ने भी तबाही मचाई है. विभिन्न जिले. हरिद्वार में तेज आंधी के कारण शहर की सड़कों और गलियों में धूल और कूड़ा फैल गया है।

धूल के कारण दृश्यता भी शून्य हो गई है। कई जगहों पर पेड़ों की टहनियां गिरने की भी खबर है। वहीं कल पहाड़ी इलाकों में हुई बारिश और बर्फबारी से तापमान में काफी गिरावट आई है।

मौसम विभाग की भविष्यवाणी हल्द्वानी के लिए भी सच साबित हुई है। बारिश से पहले दोपहर एक बजे अचानक पूरे शहर में ऐसी घनी छाया हो गई कि पूरा शहर अंधेरे में डूब गया। ऐसा लग रहा था मानों रात हो गयी हो. आसमान में बादल इतने काले और घने थे कि दिन में रात जैसा दिखने लगा।

इसके साथ ही बिजली गिरने और मूसलाधार बारिश से पूरा शहर जलमग्न हो गया. बारिश के बाद ठंड भी अचानक बढ़ गई है. कोरोना काल में भी हलद्वानी में दोपहर को अंधेरा छाया रहा। आज एक बार फिर लोगों ने उस दौर से जोड़कर कई वीडियो और तस्वीरें सोशल मीडिया पर शेयर की हैं और ये खूब वायरल हो रही हैं।

राज्य में पहाड़ से लेकर मैदान तक मौसम का मिजाज बिगड़ने की आशंका. मौसम विभाग के मुताबिक सोमवार को पर्वतीय जिलों में कुछ स्थानों पर बिजली और गरज के साथ बारिश होने की बात कही गई है।

Leave a comment