उत्तराखंड में ढाई घंटे कम या ढाई घंटे का होगा सफर, जानिये दून-दिल्ली एक्सप्रेसवे की खसियत आखिरी चरण में पहुंचा काम

bikram

दिल्ली-देहरादून एक्सप्रेस-वे का निर्माण पूरा होने का इंतजार कर रहे उत्तराखंड के लोगों की इच्छाएं जल्द ही पूरी होने वाली हैं। निर्माण कार्य अंतिम चरण में है। इसके बनने से प्रदेश की राजधानी देहरादून से देश की राजधानी दिल्ली तक का सफर महज ढाई घंटे में पूरा हो सकेगा। राज्य के विकास को नए आयाम मिलेंगे, पर्यटन और आर्थिक गतिविधियाँ भी बढ़ेंगी। दिल्ली-सहारनपुर-देहरादून एक्सप्रेस-वे का लगभग 40 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है। बस कुछ ही महीनों के बाद इस रूट पर गाड़ियां दौड़ने लगेंगी।

अंतिम चरण में पहुंच रहा एक्सप्रेसवे का काम, 2024 में होगा पूरा

बताया जा रहा है कि दिल्ली-सहारनपुर-देहरादून एक्सप्रेस-वे का करीब 40 फीसदी काम पूरा हो चुका है। बस कुछ ही महीनों के बाद इस रूट पर गाड़ियां दौड़ने लगेंगी। अधिकांश निर्माण कार्य इस वर्ष के अंत तक पूरा होने की उम्मीद है। अगर सबकुछ योजना के मुताबिक रहा तो साल 2024 तक इसे यातायात के लिए खोल दिया जाएगा।

नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (NHAI) का कहना है कि दिल्ली-देहरादून एक्सप्रेसवे के पहले दो चरणों का उद्घाटन इस साल के अंत यानी दिसंबर 2023 में किया जा सकता हैं।

इसके बाद जल्द ही यह रूट भी यात्रियों के लिए खोल दिया जाएगा। एक्सप्रेसवे का पहला चरण दिल्ली के अक्षरधाम और कुंडली-गाजियाबाद-पलवल एक्सप्रेसवे (जिसे ईपीई जंक्शन भी कहा जाता है) के बीच होगा, जबकि एक्सप्रेसवे का दूसरा चरण ईपीई जंक्शन और सहारनपुर के बीच होगा।

दिल्ली-सहारनपुर-देहरादून एक्सप्रेसवे लेन में विभाजित है यानी 12 लेन हैं और यह हाईवे दिल्ली और देहरादून के बीच पड़ने वाले शहरों के साथ-साथ उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश के कई शहरों को भी जोड़ेगा। एक्सप्रेसवे सहारनपुर, शामली, बड़ौत और बागपत जैसे शहरों से होकर गुजरेगा।

इसके बनने से हरिद्वार-देहरादून के बीच सफर आसान हो जाएगा। फिलहाल दिल्ली से देहरादून पहुंचने में 5 से 6 घंटे का समय लगता है। एक्सप्रेस-वे बनने के बाद यह दूरी महज ढाई घंटे में तय हो जाएगी। परियोजना की कुल लंबाई 213 किलोमीटर है, जिस पर 11 हजार 970 होगी।

.

Leave a comment