उत्तराखंड के दो भाई बने सेना में अग्निवीर, एक साथ सेना में शामिल होकर किया राज्य का नाम रोशन

bikram

देवभूमि उत्तराखंड के होनहार युवाओं ने एक बार फिर साबित कर दिया है कि सच्ची लगन से आप कुछ भी हासिल कर सकते हैं। अब एक अच्छी खबर नैनीताल जिले से आ रही है. अपनी सफलता से उन्होंने एक बार फिर साबित कर दिया है कि पहाड़ के लोग किसी से कम नहीं हैं। उत्तराखंड की धरती से ऐसे होनहार युवा निकल रहे हैं जो अपने देश के लिए कुछ करना चाहते हैं। हम आज यहां आपको दो ऐसे होनहार जुड़वां भाइयों की कहानी दे रहे हैं, जिन्होंने बचपन से ही एक साथ बड़े होने, एक साथ पढ़ाई करने और एक साथ सेना में शामिल होने का अद्भुत इतिहास रचा है।

तीन भाइयों ने दी थी अग्निवीर की परीक्षा जिसमें से सिर्फ दो को ही मिला दखिला

हम बात कर रहे हैं जुड़वा भाई चतुर मेहरा और चंचल मेहरा की, ये नैनीताल जिले के ओखलकांडा ब्लॉक के अधौरा गांव के रहने वाले हैं। आज दोनों भाई भारतीय सेना के अग्निवीर बन गए हैं. आपको बता दें कि दोनों भाइयों ने अपने पहले ही प्रयास में अग्निवीर में सफलता हासिल की है. चतुर और चंचल मेहरा के पिता चंदन सिंह मेहरा गांव में ही खेती का काम करते हैं. दूसरे भाई नंदन ने जून 2023 में रानीखेत में अग्निवीर की भर्ती शुरू की थी, लेकिन नंदन मेडिकल में रिजेक्ट हो गए।

आपको बता दें कि चतुर मेहरा और चंचल मेहरा का बचपन बेहद रोमांचक था, ये दोनों बचपन से ही होनहार छात्र थे। दोनों भाइयों ने अपनी प्राथमिक शिक्षा गाँव के सरकारी स्कूल से एक साथ शुरू की। प्राथमिक शिक्षा पूरी करने के बाद दोनों भाइयों ने अपनी माध्यमिक शिक्षा राजकीय इंटर कॉलेज अधौड़ा से पूरी की। दोनों भाइयों का सेना में भर्ती होने का सपना था, लेकिन गांव में तैयारी के लिए उचित संसाधनों का अभाव था।

तमाम बाधाओं के बावजूद दोनों भाइयों ने हिम्मत नहीं हारी और अपने सपने को साकार करने के लिए पहाड़ के पथरीले और पक्के रास्तों पर अभ्यास करना शुरू कर दिया। अपनी कड़ी मेहनत के दम पर दोनों भाइयों ने पहले ही प्रयास में अग्निवीर भर्ती में सफलता हासिल की। सेना में चयनित होने के बाद दोनों भाइयों का कहना है कि सेना भर्ती रैली में कड़ी मेहनत से ही सफलता मिलती है।

दोनों ने बताया कि अपने लक्ष्य तक पहुंचने के लिए उन्हें अपने परिवार के सदस्यों से प्रेरणा मिली और गांव के कुछ लोग भी उनके मार्गदर्शक बने। उनकी सफलता से उनका परिवार बेहद खुश है और घर पर बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है. इसके अलावा राजकीय इंटर कॉलेज अधौड़ा के शिक्षकों ने भी दोनों भाइयों को उनकी सफलता पर बधाई और शुभकामनाएं दी हैं।

Leave a comment