मसूरी में खुलेगा देश का पहला मानचित्रकला संग्रहालय, जॉर्ज एवरेस्ट शिखर पर बनेगा हेलीपैड

bikram

उत्तराखंड में पहाड़ों की रानी मसूरी की खूबसूरती से पूरी दुनिया में लोग भली-भांति परिचित हैं। अगर आप भी मंसूरी की खूबसूरती देखने जा रहे हैं तो हम आपको बता रहे हैं कि अब आप मसूरी में वहां की खूबसूरती के अलावा एक अनोखा म्यूजियम भी देख सकते हैं। हम बात कर रहे हैं देश का पहला मानचित्रकला संग्रहालय अब मसूरी में खुल गया है। आपको बता दें कि यह म्यूजियम अपने आप में एक अनोखा म्यूजियम है, जहां आपको बहुत कुछ देखने को मिलेगा।

First Cartography Museum mussorie

इसके साथ ही देश का पहला मानचित्रकला संग्रहालय खुल गया है। यह म्यूजियम अपने आप में एक अनोखा म्यूजियम है, यहां आपको बहुत सी अनोखी चीजें देखने को मिलेंगी। इसके साथ ही जॉर्ज एवरेस्ट स्टेट मसूरी स्थित हेलीपैड का भी उद्घाटन किया गया।

यहां राखी जाएगी भारतीय सर्वेक्षण विभाग से जुड़ें अन्य चीजें

अब तक मिली जानकारी के मुताबिक, मसूरी में देश के पहले कार्टोग्राफी म्यूजियम का उद्घाटन पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने किया. आपको बता दें कि इस म्यूजियम में इनसे जुड़ी कई महत्वपूर्ण चीजें हैंभारत से जुड़े इतिहास को रखा गया है। जैसे जॉर्ज एवरेस्ट और उनके सहयोगियों द्वारा की गई विभिन्न खोजें और उन्होंने एवरेस्ट की ऊंचाई कैसे मापी, यह दिखाया गया है। इसके साथ ही जॉर्ज एवरेस्ट के साथ रहे लोगों की मोम की मूर्तियां बनाकर प्रदर्शित की गई हैं। जो लोगों को खूब अपनी ओर आकर्षित कर रहा है।

First Cartography Museum mussorie

आपको बता दें कि इस म्यूजियम में सर जॉर्ज एवरेस्ट के साथ-साथ सर्वेयर नैन सिंह रावत के पत्र भी रखे जाएंगे. इसके साथ ही सर्वेक्षक किशन सिंह नेगी और गणितज्ञ राधानाथ सिकंदर की वेधशाला से भी लोग रूबरू होंगे। कार्टोग्राफिक म्यूजियम में पर्यटक जीपीएस की कार्यप्रणाली भी जान सकेंगे। जिसके लिए ग्लोब तैयार किया गया है. म्यूजियम को आधुनिक तकनीक से तैयार किया गया है।

First Cartography Museum mussorie

चीज़ें जैसे उपग्रह कैसे काम करते हैं? इनमें जीपीएस और संचार प्रणालियाँ कैसे संचालित होती हैं? इसके बारे में भी जानकारी प्राप्त की जा सकती है. इस संग्रहालय में आने वाले पर्यटक जिस उपकरण के सामने खड़े होंगे, उसकी पूरी जानकारी प्रदर्शित की जाएगी, जिसे विशेष सॉफ्टवेयर के माध्यम से संचालित किया जाएगा और क्यूआर कोड स्कैन करते ही सारी जानकारी मोबाइल पर उपलब्ध हो जाएगी।

Leave a comment