नैनीताल के लिए खुला विकास का पिटारा, हल्द्वानी में होगी रोड चौड़ी मिलेगी जाम से मुक्ति

bikram

जिलाधिकारी वन्दना की अध्यक्षता में कई विकास योजनाओं को क्रियान्वित किया जा रहा है, नैनीताल के सभागार कक्ष में एक बैठक आयोजित की गई, जिसमें शहर के स्थानीय गणमान्य नागरिक और व्यापार संघ, होटल एसोसिएशन के पदाधिकारी, होटल एसोसिएशन के पदाधिकारी, अधिवक्तागण और संबंधित लोग शामिल हुए। डीएसए ग्राउंड में सुविधाओं का विकास एवं सौंदर्यीकरण कार्य, ठंडी सड़क, रैमजे रोड, तल्लीताल मुख्य चौराहा सुधार कार्य। अधिकारियों के साथ बैठक कर चर्चा की।

Nainital Development Work

यात्रियों के लिए बनेंगे नए फ्लैट्स पूरा करने का होगा सौन्दर्यकरण

उन्होंने कहा कि डीएसए मैदान यहां की धरोहर है, जिसमें समय-समय पर विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम आयोजित होते रहते हैं. मल्लीताल फ्लैट्स में सौंदर्यीकरण, नवीनीकरण और विभिन्न खेल सुविधाओं के विकास के कई कार्य होने हैं, इसे दीर्घकालिक योजना के तहत किया जाना प्रस्तावित था।

उन्होंने नगर निगम EO को वर्तमान में डीएसए मैदान में स्थापित भवनों की भौतिक स्थिति के संबंध में डेटा उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है और निष्पादन एजेंसी को सभी हितधारकों के सुझावों के अनुसार डीपीआर में आवश्यक संशोधन करने का निर्देश दिया है। जिलाधिकारी ने कहा कि कार्यों में गुणवत्ता एवं पारदर्शिता बनाये रखी जाय तथा सम्बन्धित अधिकारी आपसी समन्वय से कार्य करना सुनिश्चित करें।

Nainital Development Work

तल्लीताल चौराहे एवं रैमजे रोड के विकास के संबंध में एक अन्य प्रस्ताव में विभाग ने बताया कि तल्लीताल ढांठ के मुख्य चौराहे के चौड़ीकरण का कार्य किया जाना प्रस्तावित है। उन्होंने कहा कि पर्यटन सीजन के दौरान यातायात के कारण जाम की स्थिति रहती है, वाहनों की आवाजाही को सुचारू बनाने के लिए चौड़ीकरण का कार्य किया जाएगा, जिससे स्थानीय लोगों के साथ ही नैनीताल आने वाले पर्यटकों को भी राहत मिलेगी।

जिलाधिकारी वंदना ने कहा कि नैनीताल की ठंडी सड़क यहां आने वाले पर्यटकों को आकर्षित करती है और स्थानीय लोग भी यहां के शांत वातावरण और वातावरण का आनंद लेते हैं। झील के किनारे तल्लीताल को मल्लीताल से जोड़ने वाली यह सड़क हरे-भरे पेड़ों से घिरी हुई है। उन्होंने कहा कि शहर में पर्यटन व्यवसाय के साथ-साथ वाहनों का दबाव भी बढ़ने लगा है।

Nainital Development Work

ऐसे में शहर का ठंडी सड़क वाला इलाका आज भी शोर-शराबे से दूर है।शहर के स्थानीय लोग यहां आते हैं और झील के किनारे शांति का अनुभव करते हैं। उन्होंने बताया कि स्थानीय लोग सुबह-शाम ठंडी सड़क वाले इलाके में टहलते हैं और प्रकृति के करीब होने का एहसास भी करते हैं।

Leave a comment