उत्तराखंड के नंदा देवी मेला को घोषित किया राजकीय मेला, नैनीताल को दी 15 करोड़ रुपये की सौगात

bikram

उत्तराखंड देवभूमि है इसीलिए इसे देवभूमि कहा जाता है। हर साल अलग-अलग क्षेत्र के लोग यहां विभिन्न त्योहार धूमधाम से मनाते हैं। यहां कई किरायों का भी आयोजन किया जाता है। यह कुमाऊं क्षेत्र के प्रमुख मेले में से एक है, कुमाऊं क्षेत्र का नंदा सुनंदा मेला लोगों द्वारा मनाया जाता है। यह मेला अब राजकीय मेला बन गया है। प्रदेश के लोक निर्माण, पर्यटन, सिंचाई, लघु सिंचाई, पंचायती राज, ग्रामीण कार्य, धर्मस्व, संस्कृति, जलागम एवं भारत-नेपाल उत्तराखंड नदी परियोजना मंत्री सतपाल महाराज ने नैनीताल क्लब में आयोजित कार्यक्रम के दौरान जिले को 14 करोड़ 77 लाख रुपये की सौगात दी। विकास योजनाओं की सौगात देने के साथ ही नंदा देवी मेले को राजकीय मेला भी घोषित किया गया।

नैनीताल में पर्यटन को और विकास देने के लिए काम शुरू

रविवार को नैनीताल क्लब में आयोजित कार्यक्रम में सतपाल महाराज ने नंदा देवी मेले में मां नंदा और सुनंदा के दर्शन करने के साथ ही जिले की 14 करोड़ 77 लाख 03 हजार रुपये की 10 विकास योजनाओं का शिलान्यास किया। लोगों की मांग पर नंदा देवी मेले को राजकीय मेला घोषित किया गया। शिलान्यास समारोह से पहले उन्होंने बूथ नंबर 91, नैनीताल क्लब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के “मन की बात” कार्यक्रम में भी हिस्सा लिया।

नैनीताल क्लब में आयोजित कार्यक्रम के दौरान मंत्री सतपाल महाराज ने लोक निर्माण विभाग की 793.38 लाख रुपये की लागत की 6 योजनाओं तथा सिंचाई विभाग की 683.65 लाख रुपये की लागत की 4 योजनाओं का शिलान्यास कर जिले को 1477.03 लाख रुपये की कुल 10 योजनाओं की सौगात दी। कार्यक्रम के दौरान विधायक सरिता आर्य, भाजपा जिलाध्यक्ष प्रताप सिंह बिष्ट, भाजपा मंडल अध्यक्ष, लोक निर्माण व सिंचाई विभाग के कई अधिकारी मौजूद रहे।

उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज एक दिवसीय दौरे पर नैनीताल पहुंचे. इस दौरान उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कुमाऊं के पिथौरागढ़ दौरे पर हैं. इस दौरान प्रधानमंत्री ओम पर्वत, आदि कैलाश समेत कुमाऊं के दूरस्थ क्षेत्र नाभीढांग जाएंगे. प्रधानमंत्री मोदी के दौरे से आने वाले समय में कुमाऊं में पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा. साथ ही सुदूरवर्ती इलाकों का विकास होगा.

Leave a comment