जानिये क्या रहेगा उत्तराखंड में मौसम का हाल, कहा कहा हुआ रेड अलर्ट जारी

bikram

दो दिन बाद भी उत्तराखंड में आज भी बारिश से राहत नहीं मिली। मौसम विभाग ने राज्य के छह जिलों के लिए भारी बारिश का येलो अलर्ट जारी किया है। नदी किनारे रहने वाले लोगों को विशेष रूप से उन जिलों में अधिक सतर्क रहने की सलाह दी जाती है जहां आज बारिश की संभावना है। इनमें राजधानी देहरादून, नैनीताल, चंपावत, बागेश्वर, चमोली और पिथौरागढ़ जैसे जिले शामिल हैं।

देहरादून सहित 6 पहाड़ी जिलों में हो सकती है गरज के साथ वर्षा

इन सभी जिलों में बिजली और तेज गर्जना के साथ कई दौर की भारी बारिश होने की संभावना है। अन्य जिलों में भी हल्की बारिश हो सकती है। बताया जा रहा है कि उत्तरकाशी, टिहरी, रुद्रप्रयाग, चमोली, उधम सिंह नगर जिले में भारी से भारी बारिश होने की संभावना है।

इन दिनों पहाड़ी इलाकों में लगातार बारिश से हालात खराब हो गए हैं। बुधवार को कई स्थानों पर लोगों को मुख्य रूप से बद्रीनाथ हाईवे पर पागलनाला के पास मलबा दिखाई दे रहा है। जेसीबी की मदद से हाईवे खोला गया, लेकिन मलबे में वाहन फिसलने लगे। ऐसे में यहां हाईवे को सुचारु करने में करीब ढाई घंटे लग गए। तब तक लोग सड़कों पर फंसे रहे. यहां स्थिति यह है कि हाईवे के किनारे टनों मलबा और बोल्डर फंसे हुए हैं।

बारिश से जगह जगह हो रहा है भूस्खलन मलबे से बंद है सड़के

यहां स्थिति यह है कि हाईवे के किनारे टनों मलबा और बोल्डर फंसे हुए हैं। लगातार बारिश का असर केदारनाथ धाम में पुनर्निर्माण कार्यों पर भी पड़ा है। बुधवार को यहां बारिश के कारण सेना का चिनूक हेलीकॉप्टर चंडीगढ़ से गौचर नहीं पहुंच सका, जिससे केदारनाथ के लिए उड़ान नहीं हो सकी।

इस सीजन में चिनूक 250 टन से अधिक निर्माण सामग्री केदारनाथ तक पहुंचाएगा। जिससे यहां निर्माण कार्य को गति मिलेगी। फिलहाल बारिश से राहत मिलने की उम्मीद नहीं है। मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह ने भी कहा कि आने वाले दो दिनों में पूरे प्रदेश में मौसम में बदलाव देखने को मिलेगा।

अगर आप भी किसी पहाड़ की यात्रा पर जा रहे हैं तो मौसम की जानकारी लेना न भूलें। खराब मौसम में जितना हो सके पहाड़ी इलाकों की यात्रा करने से बचें।

Leave a comment