मुख्यमंत्री का बड़ा एलान बनेगा औली विकास प्राधिकरण ( FIS ), अब उत्तराखंड में मिलेगा उसकी क्रीड़ाओं को बढ़ावा

bikram

उत्तराखंड के विकास के लिए राज्य सरकार ने विश्व प्रसिद्ध हिमक्रीड़ा स्थल औली को लेकर बड़ा फैसला लिया है। अब खबर है कि औली के पर्यटन विकास और खेल सुविधाओं को बढ़ाने के लिए ‘औली विकास प्राधिकरण’ FIS का गठन किया जाएगा। आज धामी कैबिनेट की बैठक में इस प्रस्ताव को हरी झंडी मिल गई। सरकार के इस फैसले से जोशीमठ क्षेत्र के खेल प्रेमियों और व्यापारियों में खुशी की लहर है।

अब नहीं होगा करोड़ो की मशीनों को नुक्सान

औली उत्तराखंड का एक खूबसूरत पर्यटन स्थल है जो स्कीइंग के लिए पूरी दुनिया में मशहूर है। समुद्र तल से लगभग 3000 मीटर की ऊंचाई पर स्थित यह प्राकृतिक स्थान न केवल देश में बल्कि विदेशों में भी शीर्ष स्कीइंग स्थलों में से एक है। यही कारण है कि फेडरेशन ऑफ इंटरनेशनल स्की (FIS) ने औली को स्कीइंग रेस के लिए अधिकृत किया है।

वर्ष 2011 में SAFF शीतकालीन खेलों के आयोजन से पहले यहां चेयर लिफ्ट, बर्फ बनाने की मशीन, कृत्रिम झील आदि सुविधाएं विकसित की गई थीं लेकिन खेल खत्म होने के बाद इन मशीनों और उपकरणों को उनके हाल पर ही छोड़ दिया गया था।

FIS के न होने से हर साल हो रहा था करोड़ों का घाटा

किसी एक विभाग के रखरखाव की जिम्मेदारी नहीं होने के कारण करोड़ों के ये उपकरण खराब हो गये।तभी से खिलाड़ी और खेल प्रेमी वर्षों से औली के सुनियोजित विकास के लिए एक अलग संस्था के गठन की मांग कर रहे हैं।

रख-रखाव के अभाव और किसी एक विभाग के जिम्मे लेने के कारण करोड़ों के ये उपकरण खराब हो गये। तभी से खिलाड़ी और खेल प्रेमी वर्षों से औली के सुनियोजित विकास के लिए एक अलग संस्था बनाने की मांग कर रहे हैं।

धामी सरकार अब उनकी इस मांग को पूरा करने जा रही है. 8-9 अप्रैल को जब मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी राष्ट्रीय स्तर की ‘औली मैराथन’ में हिस्सा लेने जोशीमठ पहुंचे थे तो उन्होंने युवाओं से वादा किया था कि उनकी सरकार जल्द ही औली के विकास के लिए ठोस कदम उठाएगी।

TAGGED: ,
Leave a comment