कैसे पाएं शिक्षा विभाग में पक्की नौकरी, उत्तराखंड शिक्षक भर्ती के लिए निकला ये फॉर्मूला

bikram

उत्तराखंड शिक्षा विभाग विभाग में रिक्त पदों को भरने के लिए अपनी रणनीति बना रहा है। उन्होंने राज्य के सरकारी और निजी स्कूलों में शिक्षकों के खाली पदों को स्थायी शिक्षकों से भरने का फॉर्मूला तैयार किया है. आपको बता दें कि फिलहाल इन स्कूलों में करीब 5 हजार पद खाली हैं. इसे देखते हुए शिक्षा विभाग ने नियमित नियुक्ति के लिए शिक्षक नहीं मिलने तक सरकारी और गैर सरकारी स्कूलों में अस्थायी शिक्षकों की तैनाती उत्तराखंड शिक्षक भर्ती करने का निर्णय लिया है।

नौकरी ना मिल ने तक पर पीरियड के हिसाब से मिलेगी शिक्षा को वेतन

इस संबंध में जानकारी देते हुए शिक्षा महानिदेशक बंशीधर तिवारी ने बताया कि ब्लॉक स्तर पर मेरिट लिस्ट तैयार करने के बाद इन शिक्षकों की तैनाती स्कूल स्तर पर की जाएगी। जिसके तहत हाई स्कूल के शिक्षकों को 200 रुपये और इंटरमीडिएट के शिक्षकों को 250 रुपये प्रति पीरियड वेतन दिया जाएगा।

आपको बता दें कि राज्य के गैर सरकारी स्कूलों में शिक्षकों की भर्ती पर पिछले एक साल से रोक लगी हुई है. जिसके चलते इन स्कूलों में शिक्षकों की नियुक्ति नहीं होने से 800 से ज्यादा पद खाली हैं. वहीं सरकारी स्कूलों में अधीनस्थ सेवा चयन आयोग और राज्य लोक सेवा आयोग को शिक्षक भर्ती का प्रस्ताव देने के बाद भी उन्हें समय पर शिक्षक नहीं मिल पा रहे हैं।

शिक्षा महानिदेशक बंशीधर तिवारी ने मानदेय का फार्मूला समझाते हुए बताया कि यदि कोई शिक्षक एक दिन में चार पीरियड पढ़ाता है तो उसे वेतन के रूप में 1,000 रुपये दिए जाएंगे. उनका यह भी कहना है कि इसका प्रस्ताव शासन को भेज दिया गया है. इन विद्यालयों में प्रधानाचार्य अपने स्तर के अनुसार प्रति पीरियड शिक्षकों की तैनाती कर सकेंगे।

Leave a comment