ज्योति ने किया उत्तराखंड का नाम रोशन, पहले कराटे में और अब सेना में लेफ्टिनेंट बनकर कराया गौरव

bikram

एक बार फिर उत्तराखंड की बेटी ने भारतीय सेना का हिस्सा बनकर सरते का नाम रोशन किया है। हम बात कर रहे हैं ज्योति बिष्ट की, जिन्होंने पहले अंतरराष्ट्रीय कराटे खिलाड़ी के रूप में देवभूमि का नाम रोशन किया और अब वह भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट बन गई हैं। मूल रूप से राज्य के चंपावत जिले की रहने वाली ज्योति बिष्ट ने सीडीएस पास कर भारतीय सेना में शामिल होने का अपना सपना पूरा कर लिया है।

उनकी इस उपलब्धि के बाद संयुक्त रक्षा सेवा (सीडीएस) परीक्षा में सफल होने पर ज्योति के गांव में खुशी का माहौल है। ज्योति के पिता राम सिंह बिष्ट नैनीताल बैंक में काम करते हैं जबकि उनकी मां माधवी देवी एक गृहिणी हैं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार, ज्योति बिष्ट ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा मल्लिकार्जुन स्कूल और केंद्रीय विद्यालय लोहाघाट से प्राप्त की। आपको यह भी बता दें कि ज्योति सीबीएसई 12वीं की परीक्षा में चंपावत जिले की टॉपर रही हैं। इसके अलावा वह कराटे प्लेयर भी हैं. ज्योति ने कराटे में दक्षिण एशियाई चैम्पियनशिप और दिल्ली में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक जीता, विश्व चैम्पियनशिप में भाग लिया और राज्य और राष्ट्रीय कराटे में कई स्वर्ण पदक जीते।

ज्योति ने अपनी स्नातक की पढ़ाई दिल्ली यूनिवर्सिटी से पूरी की। इस दौरान वह सीडीएस की तैयारी भी कर रही थीं। कहते हैं मेहनत कभी बेकार नहीं जाती, उसका फल हमेशा मिलता है और अब ज्योति ने लेफ्टिनेंट बनकर इस कहावत को चरितार्थ कर दिया है।

ज्योति की इस सफलता पर जिला पंचायत अध्यक्ष ज्योति राय, विधायक खुशाल सिंह अधिकारी, नगर पालिका अध्यक्ष गोविंद वर्मा, पूर्व ब्लॉक प्रमुख योगेश मेहता, उत्तराखंड सोबोकान कराटे प्रमुख लक्ष्मण सिंह बिष्ट, कराटे कोच दीपक अधिकारी, बीसी पंत, प्रहलाद सिंह मेहता, विजय रावत मौजूद रहे। . जिला कराटे एसोसिएशन के अध्यक्ष आदि ने खुशी जताई है।

TAGGED:
Leave a comment