उत्तराखंड में छोटी सी नौकरी पाने के लिए आदमी से महिला बना अभ्यर्ती, क्या होमगार्ड भर्ती में भी चल रही घपलेबाजी

bikram

उत्तराखंड में बेरोजगारी की स्थिति तेजी से बढ़ी है। यहां नौकरी पाने के लिए लोग कुछ भी कर रहे हैं। हाल ही में उत्तराखंड में एक दिलचस्प मामला देखने को मिला है. जहां एक पुरुष उम्मीदवार महिलाओं की भर्ती के लिए आवेदन कर रहा है। यह मामला चमोली जिले का बताया गया है। उत्तराखंड में महिला होमगार्ड भर्ती 1 सितंबर से शुरू हो गई है।

1 सितंबर से शुरू हुई होमगार्ड भर्ती परीक्षा

हर जिले में लोग उम्मीदवारों की भर्ती के लिए इकट्ठा हो रहे हैं। भर्ती की प्रक्रिया तो चल रही है, लेकिन महिला अभ्यर्थियों की इस भर्ती के लिए पुरुषों ने भी आवेदन किया है. इसे देखते हुए विभाग ने इन लोगों के आवेदन को खारिज कर दिया है। भर्ती के लिए शारीरिक दक्षता परीक्षा 1 सितंबर से शुरू की जाएगी।

कुछ दिन पहले ही होम गार्ड भर्ती के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू की गई थी. जिला कमांडेंट एसके साहू को चमोली जिले में भर्ती के संचालन की जिम्मेदारी दी गई है। उन्होंने बताया कि चमोली जिले में 2740 महिलाओं ने होम गार्ड बनने के लिए आवेदन किया है। इस भर्ती में 15 पुरुषों ने भी आवेदन किया था और उनके आवेदन खारिज कर दिए गए हैं। इसके अलावा कम उम्र, दूसरे राज्य का निवासी होने और प्रमाणपत्रों के अभाव वाले आवेदन भी खारिज कर दिये गये हैं।

आवेदनों में विभिन्न कमियों के कारण कुल 61 आवेदन निरस्त कर दिये गये हैं। यह भर्ती प्रक्रिया 1 से 9 सितंबर तक चलेगी, अभ्यर्थियों की शारीरिक दक्षता परीक्षा खेल मैदान गोपेश्वर में होगी। भर्ती के दिन बारिश होने की स्थिति में एक आरक्षित दिन भी रखा जाता है। महिला होम गार्ड की भर्ती प्रक्रिया दो चरणों में आयोजित की जाएगी। पहले चरण में 1 सितंबर से पौड़ी, टिहरी, उत्तरकाशी, चमोली, बागेश्वर और उधमसिंहनगर जिलों में भर्ती प्रक्रिया शुरू होगी. चयन प्रक्रिया फिजिकल फिटनेस के साथ शुरू होगी. जिसमें दौड़, लंबी कूद, क्रिकेट बॉल थ्रो प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा।

Leave a comment