कहर बरसाने को तैयार है देहरादून समेत उत्तराखंड में बादल, घर से मौसम देख कर निकले

bikram

दो दिन के आराम के बाद एक बार फिर राजधानी देहरादून में बादल छाने की तैयारी में हैं। बताया जा रहा है कि उत्तराखंड में आज मूसलाधार बारिश से राहत नहीं मिलेगी। राज्य के ज्यादातर इलाकों में भारी बारिश की संभावना है। कुछ इलाकों में बिजली चमकने के साथ कई दौर की बारिश भी हो सकती है। इसे देखते हुए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। जिले के अधिकांश हिस्सों में 18 जुलाई को भी बारिश जारी रह सकती है। खासकर पिथौरागढ, बागेश्वर, अल्मोडा, चंपावत, नैनीताल और ऊधमसिंहनगर जिले के निवासियों की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। इन जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट और अन्य जिलों के लिए येलो अलर्ट जारी किया गया है।

मौसम विभाग ने जारी किया पूरे उत्तराखंड में बारिश का रेड अलर्ट

मौसम की इस कठिन स्थिति के कारण सड़कें दिन-ब-दिन बदतर होती जा रही हैं। राज्य में फिलहाल 259 सड़कें अभी भी बंद हैं। प्रदेश में 17 राज्य मार्गों समेत कुल 286 सड़कें खुलने का इंतजार कर रही हैं। बीते दिन बंद हुई 306 ग्रामीण (सिविल व पीएमजीएसवाई) सड़कों में से सिर्फ 47 ही खुल सकीं। 24 घंटे में कुल 72 सड़कें बंद हुई हैं, जबकि एक दिन पहले 263 सड़कें बंद हुई थीं। बंद सड़कों में 17 राज्य राजमार्ग, पांच मुख्य जिला सड़कें, पांच जिला सड़कें, 134 ग्रामीण सड़कें और 125 पीएमजीएसवाई सड़कें शामिल हैं।

मानसून सीजन में 15 जून से अब तक 2200 से ज्यादा सड़कें बंद हो चुकी हैं, जिनमें से 1916 सड़कें खोली जा चुकी हैं। सड़कों के अलावा पुलों को भी नुकसान पहुंचा है। राज्य भर में 25 पुल क्षतिग्रस्त हो गये हैं। इन्हें पहले जैसी स्थिति में लाने में 15928.31 लाख रुपये से अधिक की लागत आने का अनुमान है। सड़कें खोलने के लिए जेसीबी, पोकलेन, चेन डोजर आदि 245 मशीनें लगाई गई हैं।

मालन नदी पर टूटे पुल में समय लगेगा, लेकिन तब तक अस्थायी सड़क बनाई जा रही है, ताकि समय रहते यातायात सुचारू हो सके। देहरादून से चलने वाली आठ ट्रेनें आज रद्द रहेंगी। कुछ दिन पहले रेलवे ट्रैक पर मलबा आ गया था जिसके कारण ट्रेनें लेट हो गई थीं और ऐसे में अगर आप रेल से यात्रा करने की योजना बना रहे हैं तो आपको संबंधित ट्रेन के बारे में पूरी जानकारी होनी चाहिए। बारिश के कारण मलबा और जलभराव के कारण ट्रेनों का परिचालन बाधित हो गया है।

Leave a comment